space station

अंतरिक्ष में रहने वाले वैज्ञानिकों के लिए नया साल कब शुरू होता है? आइये जानते है।

क्या आप जानते हैं कि धरती से करीब 400 किलोमीटर ऊपर अंतरिक्ष में रहने वाले हमारे वैज्ञानिक नया साल कब मनाते हैं?

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आईएसएस) में सवार अंतरिक्ष यात्री नए साल का स्वागत उतनी ही उत्सुकता से करेंगे, जितना आप पृथ्वी पर करते हैं। आइए जानते हैं इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर नए साल की शुरुआत कब से हो रही है।

अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन को अंतरिक्ष यात्रियों के दूसरे घर के रूप में भी जाना जाता है। यह स्पेस स्टेशन अमेरिका और रूस जैसे प्रतिद्वंद्वियों सहित कई देशों की संयुक्त परियोजना है। अंतरिक्ष यात्रियों की एक टीम स्थायी रूप से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर तैनात है और वहीं से अपने मिशन का संचालन करती है।

अपनी खुद की जानकारी के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन लगभग 7.6 किलोमीटर प्रति सेकंड की गति से पृथ्वी की परिक्रमा करता है। बेहतर समझ के लिए, अंतरिक्ष स्टेशन दिन में 16 बार पृथ्वी की परिक्रमा करता है, जिसका अर्थ है कि वहाँ रहने वाले अंतरिक्ष यात्रियों के सामने 16 सूर्योदय और सूर्यास्त होते हैं।

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि कई देशों के यात्री इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर हैं। इनमें अमेरिका, रूस, जापान आदि शामिल हैं।

इन देशों में नए साल की पूर्व संध्या अलग-अलग समय पर मनाई जाती है। अगर इन देशों के यात्री धरती से 400 किलोमीटर ऊपर स्पेस स्टेशन में हैं तो वे नया साल कब मनाएंगे?

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर मौजूद अंतरिक्ष यात्री 1 जनवरी, 2023 को भारतीय समयानुसार सुबह साढ़े पांच बजे नए साल का जश्न मनाएंगे।

ऐसा इसलिए है क्योंकि आईएसएस यूनिवर्सल कोऑर्डिनेटेड टाइम का पालन करता है, जिसे ग्रीनविच मीन टाइम भी कहा जाता है।

यह समय मध्य यूरोपीय समय से एक घंटा और भारतीय समय से साढ़े पांच घंटे पीछे है। यानी 1 जनवरी की सुबह जब आप जागेंगे या सोएंगे तो आईएसएस पर सवार अंतरिक्ष यात्री नए साल में प्रवेश करेंगे। आईएसएस पर वर्तमान में 7 अंतरिक्ष यात्री हैं।

यह भी पढ़ें :–

भारत में 5G सेवाओं की शुरुआत, इन देशों में इस्तेमाल हुई 6G तकनीक, नॉर्वे में 7G इंटरनेट स्पीड

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *