आने वाले दो वर्षों में अमेरिकी में मंदी देखने को मिल सकती है

अमेरिका में मंदी की संभावना के मद्देनज़र एक सर्वे किया गया और विशेषज्ञों का विचार जाना गया सर्वे में 38 फीसदी विशेषज्ञ में माना कि आने वाले साल में अमेरिकी मे मंदी देखने को मिल सकती हैं लेकिन 34 फीसदी विशेषज्ञों ने कहा कि 2021 से पहले मंदी नही आएगी यानी कि बहुमत अर्थशास्त्रियों का कहना है कि 2020 या 2021 में अमेरिका में बड़ी मंदी होने की संभावना है

इनके अनुसार अमेरिकी अर्थव्यवस्था बड़ी मंदी की कगार पर पहुँच गई है लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप का ने मंदी की खबरों का खंडन किया है न्यूज़ एजेंसी पीटीआई ने बताया कि फेडरल रिजर्व बैंक के कोशिशों की वजह से मंदी का समय थोड़ा सा आगे बढ़ गया है डोनल्ड ट्रंप ने कहा किमैं हर तरह के बात के लिए तैयार हूं, मुझे नही लगता कि हम मंदी में पड़ेंगे , हम बहुत अच्छा चल रहे है हमारे उपभोक्ता धनी हैं , मैंने उन्हें टैक्स में जबरदस्त छूट दी है उनके पास खूब पैसा है और वे खरीददारी कर रहे मैंने वालमार्ट के आंकड़े देखे उन्हें छप्पर फाड़ आमदनी हो रही है

लेकिन अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरेल रिजर्व बैंक भी संकेत दिया है कि आने वाले समय मे अर्थव्यवस्था की स्थिति चिंताजनक है अर्थशास्त्री कांस्टेंस के अनुसार अर्थव्यवस्था में विस्तार का दौर कुछ और समय तक रह सकता है इनके अनुसार मंदी 2020 या 2021 में आएगी लेकिन दुनिया को सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के संबंध में मंदी को लेकर विशेषज्ञों में अलग अलग राय है अर्थशास्त्रियों में चीन और अमेरिका के बीच कोई बड़ा समझौता होने पर भी संदेह है

उधर दुनियाभर के ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में सुस्ती जारी है घरेलू और वैश्विक मंदी और सरकार की नीतिओ की अनिश्चितता और चीन की आक्रामक चाल का असर भारत के ऑटोमोबाइल क्षेत्र में भी देखने को मिल रहा है अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार बाद रहा ऐसे में भारत को अपना कारोबार बढाना चाहिए था लेकिन अब तक ऐसा नही हुआ है और भारत में ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में काफी सुस्ती देखने को मिल रही बिक्री में लगातार गिरावट बनाई हुई है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.