ओंकोलिटिक वायरस

ओंकोलिटिक वायरस: कैंसर को खत्म कर देगा यह वायरस, इंसानों पर किया गया पहला क्लिनिकल ट्रायल

क्लिनिकल ट्रायल के दौरान डॉक्टरों ने एक इंसान को एक वायरस का इंजेक्शन लगाया, जिसका मकसद शरीर में कैंसर कोशिकाओं को मारना है। इस वायरस ने जानवरों में सकारात्मक परिणाम दिखाए हैं। शोध के अनुसार, इस उपचार को ऑनकोलिटिक वायरल थेरेपी कहा जाता है।

कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करता है

ऑनकोलिटिक वायरस इम्यूनोथेरेपी का एक रूप है जो कैंसर कोशिकाओं को संक्रमित और नष्ट करने के लिए वायरस का उपयोग करता है। विशेषज्ञों ने पाया है कि वायरस हमारी कोशिकाओं को संक्रमित करते हैं और फिर कोशिका की आनुवंशिक मशीनरी को दोहराने के लिए उपयोग करते हैं।

100 मरीजों पर होगा अध्ययन

कैंसर को मारने वाले इस नए वायरस को वैक्सीनिया के नाम से जाना जाता है। यह कैंसर कोशिकाओं को मारने और स्वस्थ कोशिकाओं से बचने के लिए बनाया गया है।

न्यूजवीक की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस प्रक्रिया को पूरा होने में करीब दो साल का समय लगेगा। इसके तहत अमेरिका में 100 कैंसर मरीजों की जांच की जाएगी।

प्रतिरक्षा प्रणाली में मदद करता है

कैंसर अनुसंधान कंपनी इमुजीन लिमिटेड के अनुसार, यह उपचार कैंसर के खिलाफ लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली का भी समर्थन कर सकता है। आपको बता दें कि यह कंपनी वायरस का टीका विकसित कर रही है। इसका पूरा नाम CF33-hNIS VAXINIA है।

विशेषज्ञों ने दी उम्मीद

यूरेकअलर्ट की रिपोर्ट के अनुसार, ट्यूमर के खिलाफ इस ऑनकोलिटिक वायरस थेरेपी अध्ययन के पहले चरण के विशेषज्ञों को उम्मीद है कि यह वायरस कैंसर के खिलाफ शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ाएगा।

 

यह भी पढ़ें :–

भीषण गर्मी में भी गर्मी अछूती रहती है! ये टेलकम पाउडर देते हैं पूरी ठंडक और सुरक्षा

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.