यह बिजनेसमैन हर महीने तोड़ देता है अपना स्मार्टफोन

आज के जमाने मे मोबाइल हर किसी की जरूरत हो गई है । लोगो की हर जरूरत का समाधान  उनका स्मार्टफोन लगभग कर देता है । हम सुबह जागने से लेकर रात में सोने तक अपना स्मार्टफोन साथ में रखते हैं ।

हम स्मार्टफोन का इस्तेमाल ना सिर्फ कॉल करने के लिए करते हैं बल्कि स्मार्टफोन में हमारी हर नीचे जानकारी उसमे सेव रहती है और इसलिए आज के समय में स्मार्टफोन बहुत ज्यादा अहमियत रखता है जिसका सिर्फ अंदाजा लगाया जा सकता है ।

लेकिन अगर हम यह कहे कि एक ऐसे भी अरबपति बिजनेसमैन हैं जो अपने स्मार्टफोन को लगभग हर महीने ही तोड डालते हैं तो लगेगा क्या यह मजाक है ?

लेकिन यह मजाक नहीं बल्कि हकीकत है । अमेरिकी उद्योगपति जो बिजनेसमैन हैं,अपना स्मार्टफोन अक्सर तोड़ देते हैं । टेस्ला इलेक्ट्रॉनिक कार और टेक्नोलॉजी  के निर्माता कंपनी के मालिक है एलन मस्क

जो  हमेशा अपना स्मार्टफोन जिस वजह से तोड़ देते हैं । और इसकी वजह जानकर आपको हैरानी होगी। दरअसल अमेरिका में दायर दस्तावेज के अनुसार एलन मस्क सुरक्षा कारणों की वजह से अपना स्मार्टफोन अक्सर तोड़ देते हैं

इस दस्तावेज के मुताबिक एलन मस्क अपने पुराने स्मार्ट फोन के डाटा को निकाल कर के सुरक्षित कर लेते हैं और उसके बाद उनके स्मार्टफोन को नष्ट कर दिया जाता है और यह प्रकिया नियमित तौर पर की जाती है ।

ताकि एलन मस्क का डाटा सुरक्षित रहे । दरअसल स्मार्टफोन इस्तेमाल की वजह से डाटा प्राइवेसी का खतरा भी हमेशा बरकरार रहता है और पिछले कुछ सालों में एसी की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है । अगर थोड़ी सी भी लापरवाही हो जाती है तो इसका भारी नुकसान उठाना पड़ता है ।

क्योंकि थोड़ी सी गलती से डाटा लीक हो जाते हैं । एलन मस्क एक अमीर बिजनेसमैन है और उनके लिए हर महीने नया स्मार्टफोन कोई बड़ी बात नहीं है ।

लेकिन एक आम नागरिक ऐसा नहीं कर सकता है । इसलिए हमें अपनी निजी डेटा की जानकारी को लेकर थोड़ा सावधानी बरतनी चाहिए ।

एक आम इंसान के डाटा के लीक होने की संभावनाएं भी थोड़ा कम होती है । ज्यादातर उन्हीं लोगों के डाटा लीक होने की संभावना अधिक होती हैं जो बड़े बिजनेसमैन होते हैं या जिनके डेटा का उपयोग किसी फायदे के लिए किया जा सकता है ।

चलिए जानते हैं किन बातों का ध्यान रख कर डेटा सुरक्षित रह सकते है –

  • हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि स्मार्ट फोन में कोई भी ऐप को डाउनलोड या फिर इंस्टॉल तभी करें जब वह गूगल प्ले स्टोर पर वेरीफाई हो अगर गूगल प्ले स्टोर पर वेरीफाई ना हो तो उसे इंस्टॉल नहीं करना चाहिए
  • लेटेस्ट एंड्राइड 10 में ऐसी कई सारे फीचर्स दिए गए हैं जो आप की परमिशन को कंट्रोल करते हैं और किसी भी ऐप को अपनी निजी जानकारी की परमिशन ना दें और यदि परमिशन देना पड़े तो ऐसे ऐप को दे जिसका इस्तेमाल कर रहे हो ।
  • कोशिश करें कि स्मार्ट फोन के पासवर्ड को हमेशा अल्फा न्यूमैरिक बनाये और अगर संभव हो तो बायोमेट्रिक पासवर्ड के साथ अल्फा न्यूमेरिक पासवर्ड का इस्तेमाल करें
  • स्मार्ट फोन में निजी ऐप के डाटा को लॉक रखें ताकि कोई अगर आपका पासवर्ड जान ले तब भी आपके निजी डाटा को एक्सेस न कर सके ।
  • स्मार्टफोन, सोशल मीडिया और बैंक अकाउंट के पासवर्ड को समय-समय पर बदलते रहना चाहिए ।

इन तरीकों को अपनाकर और थोड़ी सी सावधानी के साथ अपनी निजी जानकारी को लिंक होने से बचाया जा सकता है क्योंकि आम इंसान हर महीने तो अपने स्मार्टफोन को नहीं बदल सकता है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.