टाटा समूह विदेशी कंपनी अमेजन, फ्लिपकार्ट समेत स्वदेशी कंपनी जियो मार्ट को टक्कर देने के लिए एक सुपर एप भी तैयार कर रहा है।

टाटा समूह: टाटा समूह ई-कॉमर्स कारोबार पर खर्च करने जा रहा है 5100 करोड़ रुपये, जानिए क्या है योजना

टाटा समूह विदेशी कंपनी अमेजन, फ्लिपकार्ट समेत स्वदेशी कंपनी जियो मार्ट को टक्कर देने के लिए एक सुपर एप भी तैयार कर रहा है।

जिसमें किराने के सामान के अलावा कपड़े, सेहत के लिए जूते, फिटनेस, दवा, फ्लाइट और ट्रेन के टिकट जैसी रोजमर्रा की जरूरत की सभी चीजें उपलब्ध हैं।

समूह ने इसमें 5,100 अरब रुपये से अधिक का निवेश किया है। टाटा समूह ने हाल ही में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को अपनी सूचना में घोषणा की कि उसने अपने दो ऑनलाइन व्यवसायों में 5,100 अरब रुपये का निवेश किया है।

केंद्र सरकार की घोषणा के बाद ब्रेक लगाना

टाटा समूह सितंबर में ही अपना सुपर ऐप लॉन्च करने वाला था। लेकिन केंद्र सरकार ऑनलाइन मार्केटिंग और उपभोक्ता संरक्षण पर नया कानून तैयार कर रही है।

ऐसे में टाटा स्टील ने अपने प्रोजेक्ट पर कुछ दिनों के लिए रोक लगा दी। टाटा समूह चाहता है कि वे पहले नए उपभोक्ता कानून को समझें और फिर उसके अनुसार अपना सुपर ऐप लॉन्च करें।

इन कंपनियों ने जुटाया फंड

टाटा समूह द्वारा जुटाए गए 5,100 अरब रुपये के फंड में टाटा डिजिटल की बड़ी हिस्सेदारी है, जो कि 5,025 अरब रुपये के बराबर है। टाटा क्लिक ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस के मालिक टाटा यूनिस्टोर को 1,000 अरब रुपये की वृद्धि के हिस्से के रूप में दो चरणों में 102 अरब रुपये मिले हैं। टाटा डिजिटल ने टाटा संस से फंड जुटाया है।

दूसरी ओर, टाटा यूनिस्टोर अपनी संयुक्त उद्यम कंपनी टाटा इंडस्ट्रीज एंड ट्रेंट लिमिटेड से असुरक्षित, गैर-सूचीबद्ध, वैकल्पिक रूप से परिवर्तनीय नोटों के माध्यम से पूंजी जुटाता है। FY21 में, Tata Digital ने 400 करोड़ रुपये जुटाए।

जबकि वित्त वर्ष 2020 में इसने अपनी मूल कंपनी से 100 करोड़ रुपये जुटाए थे। टाटा यूनिस्टोर ने वित्त वर्ष 2021 में 30 करोड़ रुपये, वित्त वर्ष 2020 में 311 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2019 में 292 करोड़ रुपये जुटाए। हालांकि वित्त वर्ष 2018 में कंपनी को 224 करोड़ रुपये मिले।

टाटा का होगा अलग ई-प्लेटफॉर्म

बाजार की चर्चा के मुताबिक टाटा डिजिटल का भी अपना प्लेटफॉर्म होगा। यह सौंदर्य प्रसाधन और कल्याण उत्पादों पर ध्यान केंद्रित करेगा।

टाटा समूह जल्द शुरू करने की तैयारी कर रहा है। यह प्लेटफॉर्म बाजार में Nykaa, पर्पल, MyGlacam जैसी कंपनियों को टक्कर देगा।

यह टाटा क्लिक और Westside.com से बिल्कुल अलग होगा। जो टीवी, रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन, एयर कंडीशनर जैसे इलेक्ट्रॉनिक्स सहित घरेलू उत्पाद बेचता है।

समूह ने सुपरएप के लिए इन कंपनियों का अधिग्रहण किया

टाटा समूह जो कुछ भी करता है, वह महान कार्य करता है। ऐसे में टाटा समूह ने बाजार में मजबूत उपस्थिति हासिल करने के लिए कई कंपनियों को अपने कब्जे में ले लिया।

यहां का बड़ा नाम बिग बास्केट है, जो सबसे बड़ी ई-फूड कंपनियों में से एक है। इसमें ई-फार्मा कंपनी 1MG और फिटनेस स्टार्टअप कल्टफिट कंपनी भी शामिल है।

 

यह भी पढ़ें :–

टाटा समूह में बड़े बदलाव की तैयारी: अब सीईओ चलाएंगे कारोबार, चेयरमैन और सीईओ के पद होंगे अलग

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.