|

पलकों का झपकना भी है जरूरी

आंखों की नमी बनाए रखने के लिए पलकों का झपकना जरूरी है एक शोध से यह निष्कर्ष निकला है कि एक पल के लिए पलकों का झपकना हमारे हमारे दिमाग को फ्रेश कर देता है और आँखों के सेहत के लिए भी जरूरी होता है आंखों में आँसू को दुखों का कारण समझा जाता है लेकिन आँसू हमारी आंखों की सेहत के लिए बेहद जरूरी है I यह आंखों की नमी बरकरार रखने के लिए स्नेहक का काम करता है क्योंकि आंखों को स्वस्थ रहने के लिए उनका गीला होना आवश्यक है और आँसू हमारी आंखों के लिए नेचुरल स्नेहक का काम करते हैं जब हम पलकें झपकाते है तो आँखों को आराम महसूस होता है जब हम कम पलकें झपकाते हैं तो हमारी आंखों की सेहत के लिए यह सही नहीं है ऐसे में आंखों में जलन जैसी समस्या हो जाती है

आजकल की दिनचर्या ऐसी हो गई है कि आंखों की समस्या तेजी से बढ़ रही है जिसमें ड्राई आई सिंड्रोम जैसी शिकायतें ज्यादा देखने को मिल रही है जब हम काफी देर तक मोबाइल चलते है या कंप्यूटर पर काम करते है या टीबी देखते हैं तो इससे हमारी आंखों की रेटिना प्रभावित होती है और आँखें सूखने लग जाती हैं और यही आंखों का सूखापन ड्राई आई सिंड्रोम के नाम से भी जाना जाता है ध्यान से देखें तो कि स्वास्थ्य आँखों की पुतलियां गीली रहती हैं आँखों में आँसू आँखों को स्वस्थ रखने में मददगार होते है और उन्हें गिला रखने में सहायक होते है

आँखों के स्वस्थ रखने के लिए धूप में घरों से बाहर निकलते समय अच्छी क्वालिटी के सनग्लास का इस्तेमाल करना चाहिए और कंप्यूटर पर काम करते समय या फिर पढ़ाई करते समय हर एक घंटे के अंतराल पर अपने आँखों को दो तीन मिनट के लिए बंद करना चाहिए इससे आँखों को आराम मिलता है और दिमाग को भी आराम पहुँचता है ओमेगा 3 जैसे तत्व आंखों के स्वस्थ के लिए भी बहुत जरूरी होते हैं इसलिए पोषक तत्वों से भरपूर चीजों को खाना  में शामिल करना चाहिए , खाने में ऐसी चीजों को शामिल करें जिनमे एंटीऑक्सीडेंट  पर्याप्त मात्रा में पाया जाता हो तो अगली बार मोबाइल कंप्यूटर चलते समय थोड़ी थोड़ी देर में अपनी पलकें झपकाना न भूले

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.