प्याज दिलाता है डायबिटीज से छुटकारा

डायबिटीज बीमारी दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है । डायबिटीज के मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है । डायबिटीज होने की मुख्य वजह है हमारा गलत खानपान और खराब जीवनशैली डायबिटीज कि मरीजों में ब्लड शुगर का लेवल नियंत्रण में नहीं रहता है । जिस वजह से मरीज मोटापा किडनी फैलियर और दिल से संबंधित बीमारी से ग्रस्त हो सकते हैं ।

लेकिन प्याज डायबिटीज की बीमारी को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है । ऐसा इसलिए है क्योंकि प्याज में  फ़्लेवेनाइट्स पाया जाता है । कई सारे अध्यन से यह बात पता चली है कि प्याज में मौजूद फ़्लेवेनाइट्स ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखता है और इससे डायबिटीज पर काबू पाया जा सकता है ।

चलिए जानते हैं कैसे प्याज से डायबिटीज को नियंत्रित रखा जा सकता है : –

प्याज में फाइबर की मात्रा काफी अधिक पाई जाती है । प्याज शरीर में ब्लड के ग्लूकोस के लेवल को नियंत्रित रखने में सहायक है । प्याज का सेवन करने से शरीर से विषैले पदार्थों को निकालने में मदद मिलती है पेट साफ रहता है और स्वस्थ रहता है ।

अक्सर देखा गया है कि डायबिटीज के मरीजों कोकब्ज की समस्या हो जाती है आदि प्याज का सेवन किया जाए तो पेट साफ रहेगा और कब्ज की समस्या से राहत मिलेगी ।

डायबिटीज के मरीजों को कार्बोहाइड्रेट की मात्रा का सेवन करना चाहिए क्योंकि कार्बोहाइड्रेट्स की अधिक मात्रा उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है । प्याज में कार्बोहाइड्रेट्स कम मात्रा में पाया जाता है ।

डायबिटीज के मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है ।
डायबिटीज के मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है ।

इसलिए भी प्याज डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद होता है । सभी खाद्य पदार्थ में ग्लाइसेमिक इंडेक्स मूल्य होते है यह इंडेक्स का मूल्य, हमारे शरीर पर खाद्य पदार्थों के सेवन से ब्लड शुगर जिस तरह प्रभावित होता है, उस आधार पर बनाते है ।

आज का क्लाइमेट इंडेक्स मूल 10 है और इस वजह से डायबिटीज के रोगियों के लिए प्याज एक अच्छी डाइट मानी जाती है । प्याज खाने में स्वाद को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल की जाती है । लेकिन प्याज स्वाद साथ-साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद है ।

टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित रोगी प्याज को सूप, सलाद और सैंडविच आदि के साथ इसका सेवन कर सकते हैं । लेकिन इस तरह के कोई भी प्रयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह ले लेना चाहिए । कोई भी प्रयोग जो सेहत से जुड़ा हो तो बिना डॉक्टर की सलाह से उसे फॉलो नहीं करना चाहिए ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.