मियाज़ाकी मैंगो

इस आम की सुरक्षा में लगे 3 गार्ड, 9 कुत्ते की कीमत 2.70 लाख रुपये प्रति किलो है.

भारत में आम की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है। कई प्रजातियां विभिन्न क्षेत्रों में पाई जाती हैं। भारत में आम की खेती के मामले में आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और गुजरात के नाम सबसे महत्वपूर्ण हैं। इनमें उत्तर प्रदेश 23 फीसदी हिस्सेदारी के साथ पहले स्थान पर है।

देश में बैंगनपल्ली, हिमसागर, दशहरी, अल्फांसो, लंगड़ा जैसी कई प्रजातियों की खेती की जाती है। इन आमों को लोग बड़े चाव से खाते हैं। आम के निर्यात के मामले में भी भारत पहले स्थान पर है।

लेकिन शायद बहुत कम लोगों को पता होगा कि दुनिया का सबसे महंगा आम कहां उगाया जाता है। आम मियाज़ाकी को दुनिया का सबसे महंगा आम माना जाता है। इसकी खेती जापान के मियाज़ाकी शहर में की जाती है। समय के साथ, अब इसकी खेती भारत, बांग्लादेश, थाईलैंड और फिलीपींस में भी की जा रही है।

टायो नो तमंगो नाम के इस आम की कीमत ज्यादा होने के कारण इसकी सुरक्षा के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। मध्य प्रदेश के जबलपुर निवासी संकल्प परिहार ने इन आमों की सुरक्षा के लिए अपने बगीचे में 3 गार्ड और 9 कुत्ते रखे थे।

यह आम हाल के वर्षों में काफी चर्चा में रहा है। दरअसल, इसकी कीमत को लेकर लोगों की नजरों में ऐसा किया गया। इसके कुछ आम भी बगीचे से चोरी हो गए थे। ऐसे में सुरक्षा के लिए आम का इंतजाम करना पड़ा। इसके लिए उन्हें अतिरिक्त पैसे भी खर्च करने पड़ते हैं।

जानकारों का कहना है कि जब यह आम पूरी तरह से पक जाता है तो इसका वजन 900 ग्राम तक पहुंच जाता है। इसके साथ ही इसका रंग हल्का लाल और पीला हो जाता है और इसकी मिठास भी सभी को अपनी ओर आकर्षित करती है।

इसके अलावा अन्य आमों की तुलना में फाइबर बिल्कुल नहीं पाया जाता है। इस आम को सूर्य का अंडा भी कहा जाता है। इसके अलावा, मियाज़ाकी आमों को उनके उग्र लाल रंग के कारण ड्रैगन अंडे भी कहा जाता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.