रवीश कुमार को एशिया का रमन मैग्सेस पुरस्कार

रवीश कुमार पत्रकारिता का एक जाना माना चेहरा है रवीश कुमार एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार हैं   रवीश कुमार को पत्रकारिता के क्षेत्र में इस साल का रमन मैग्सेस पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया गया है   रवीश कुमार को यह पुरस्कार पत्रकारिता के जरिए बेजुबान को आवाज देने के लिए दिया गया है रवीश कुमार ने अपने कार्यक्रम  प्राइम टाइम में आम लोगों की वास्तविक और अनकही समस्याओं को उठाते रहते हैं प्राइम टाइम एक काफी पॉपुलर कार्यक्रम है खास कर युवाओ में यह काफी पॉपुलर है रमन मैग्सेस पुरस्कार सामाजिक क्षेत्र में साहसिक और परिवर्तनकारी नेतृत्व के लिए दिया जाता है इसको एशिया का नोबेल पुरस्कार भी कहा जाता है

रवीश कुमार को पुरस्कार देते हुए रमन मैग्सेसे के  संस्थापक की ओर से कहा गया है कि अगर आप लोगों की आवाज बनते हैं तो आप पत्रकार हैं  रवीश कुमार के साथ इस वर्ष रमन मैग्सेसे पुरस्कार पांच अन्य लोगों को भी दिया जिसमें  म्यांमार के को स्वे बिन , थाईलैंड की अंगखाना  नीलापोजित, फिलीपींस के रेमुंडो पुंजाते कायव्याब और दक्षिण कोरिया के किम जोंग की शामिल हैं 

रवीश कुमार के पहले पांच अन्य भारतीय पत्रकारों को भी रमन मैग्सेस पुरस्कार दिया जा चुका है जिनमे अमिताभ चौधरी, वीजी वर्जिज , अरुण शौरी,  आर के लक्ष्मण, और पी साईं नाथ शामिल हैं   रमन मैग्सेस पुरस्कार से  महाश्वेता देवी, सत्यजीत रे , अरविंद केजरीवाल और किरण बेदी को भी सम्मानित किया चुका हैं विनोवा भावे पहले भारतीय थे जिन्हें रमन मैग्सेस पुरस्कार प्रदान किया गया था और मदर टेरेसा पहली महिला थी  जिन्हें रमन मैग्सेसे पुरस्कार मिला था

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.