रुचि सोया पूरी तरह से कर्ज मुक्त हो गया

पूरी तरह कर्ज मुक्त हुई बाबा रामदेव की कंपनी, रुचि सोया ने चुकाया करीब 3000 करोड़ का कर्ज, निवेशकों के लिए खास टिप्स

बाबा रामदेव की कंपनी रुचि सोया पूरी तरह से कर्ज मुक्त हो गया है। शुक्रवार को कंपनी ने घोषणा की कि उसने 2925 करोड़ का कर्ज चुका दिया है और अब पूरी तरह कर्ज मुक्त है।

पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट किया कि रुचि सोया कर्ज मुक्त हो गई। इस ट्वीट में बालकृष्ण ने कहा कि हमने 2,000 925 करोड़ का कर्ज जल्दी चुका दिया।

हाल ही में रुचि सोया का एफपीओ  आया। यह एफपीओ 4300 करोड़ का था। कंपनी ने इस पूंजी का कुछ हिस्सा कर्ज चुकाने के लिए इस्तेमाल किया है।

कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि एफपीओ के लिए दाखिल दस्तावेजों के मुताबिक रुचि सोया को सिर्फ 1950 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाना था।

हालांकि बाद में कंपनी के प्रबंधन ने 2925 करोड़ के कुल कर्ज को चुकाने का फैसला किया। इस प्रकार कंपनी पूरी तरह से कर्ज मुक्त हो गई है।

रुचि सोया शुक्रवार को स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हुई थी। लिस्टिंग के बाद शेयर पहले दिन 13 फीसदी ऊपर बंद हुआ। इस एफपीओ का इश्यू प्राइस 650 रुपये था। ऐसे में इस एफपीओ में शेयर खरीदने वाले निवेशकों को पहले दिन 36 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न मिला।

यहां बड़ा सवाल यह है कि निवेशकों को अब क्या करना चाहिए। बाजार के जानकारों का कहना है कि अगर कोई निवेशक शॉर्ट टर्म ओरिएंटेड है तो उसे प्रॉफिट बुक करना चाहिए। लंबी अवधि के निवेशक इसमें बने रह सकते हैं।

700 पर मजबूत समर्थन

इकोनॉमिक टाइम्स में प्रकाशित एक रिपोर्ट में, स्वास्तिक इन्वेस्टमेंट के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा कि स्टॉक में अल्पकालिक बिकवाली देखी जा सकती है।

अगर बिकवाली शुरू होती है तो 700 रुपये के स्तर पर मजबूत समर्थन है। मध्यम और लंबी अवधि में कंपनी के उत्कृष्ट विकास की उम्मीद है।

यह शेयर 1000 का आंकड़ा पार करेगा

जीसीएल सिक्योरिटीज के रवि सिंघल का कहना है कि अगर किसी निवेशक ने इस एफपीओ में केवल तत्काल लाभ के लिए निवेश किया है तो उसे बाहर निकल जाना चाहिए। यदि संभावनाएं भी निवेश हैं, तो 50% शेयरों पर लाभ बुक किया जा सकता है।

निवेश के लिए 50 प्रतिशत छोड़ दें। अगले तीन महीनों में इस शेयर के 1000 के आंकड़े को पार करने की उम्मीद है। 740 को मजबूत समर्थन माना जा रहा है।

कमोडिटी में उछाल से रुचि सोया को होगा फायदा

सिंघल ने कहा कि जिंस की कीमत दुनिया भर में भाग रही है। रुचि सोया के पास बफर की एक बड़ी सूची है जिसे कंपनी भारी लाभ पर बेचेगी। ऐसे में अगली तिमाही में शानदार प्रदर्शन की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें :–

रूस-यूक्रेन युद्ध: ऊर्जा बाजार में रूस कितना महत्वपूर्ण है? क्या यूक्रेन में युद्ध से दुनिया का तेल खेल बदल जाएगा?

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.