रेत पर कला का प्रदर्शन करने वाले सुदर्शन पटनायक को पीपल्स चॉइस अवॉर्ड

फिसलती रेत पर अपनी कला को प्रदर्शित करने वालों सुदर्शन पटनायक से हम में से ज्यादातर लोग परिचित होंगे सुदर्शन पटनायक को अमेरिका में सेंड स्कल्पटिंग फ़ेस्टिवल में पीपल्स चॉइस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है

सेंड स्कल्पटिंग प्रतियोगिता 2019  को मैसाचुएट्स के बोस्टन में विवीर बीच पर आयोजित किया गया, जिसमें हिस्सा लेने के लिए दुनिया भर से 15 शीर्ष कलाकारों को  चुना गया था, जिसमें भारत के  रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक भी शामिल थे

इस महोत्सव में सुदर्शन पटनायक ने समूचे एशिया का प्रतिनिधित्व किया था इस प्रतियोगिता में सुदर्शन पटनायक ने अपनी रेत कलाकृतिप्लास्टिक प्रदूषण रोको, महासागरों को  बचाओके जरिए दर्शकों का दिल लिया, साथ ही साथ उन्होंने महासागरों के प्रदूषण के प्रति लोगों को जागरूक भी किया

फोन पर बातचीत में पटनायक ने बताया कि अमेरिका में उनके लिए यह एक बड़ा पुरस्कार और सम्मान के है उन्होंने यह भी कहा कि यह पुरस्कार भारत के लिए है

भारत प्लास्टिक से निजात पाने के लिए कई सारे कदम उठा रहा है उन्होंने बताया कि प्लास्टिक प्रदूषण की समस्या को रेखांकित करने वाली उनकी कलाकृति के लिए हजारों लोगों ने उन्हें वोट किया जो इस बात का भी गवाह है कि लोगों को  महासागरों में होने वाले प्रदूषण की चिंता है

सुदर्शन पटनायक ने अपनी कलाकृति में प्लास्टिक बैग में फंसे कछुए और मछली के पेट में फंसे चप्पल, बोतल इत्यादि को दिखाया था 

कलाकृति के माध्यम से यह संदेश देने का प्रयास किया गया था कि प्लास्टिक से इंसान के साथ साथ समुद्री जीव भी प्रभावित हो रहे हैं सुदर्शन पटनायक भारत के ओड़ीसा के रहने वाले हैं

उनको कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए 2014 में भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया था सुदर्शन पटनायक रेत से कलाकृतियां  बनाते हैं

दुनिया भर के पर्यटक ओडिशा के पुरी के समुद्र तट पर रेत की आकृतियाँ वाले इस कलाकार और उसकी कलाकृतियों को देखने के लिए आते हैं

सुदर्शन पटनायक की कलाकृतियां मानव सभ्यता के लिए खतरा माने जाने वाले विषयों पर आधारित होती हैं चाहे वह आतंकवाद या फिर जलवायु परिवर्तन के खतरे

रेत के माध्यम से भावनाओं की सशक्त अभिव्यक्ति का सफल प्रयास करने वाले पटनायक  कहने को तो महाप्रभु जगन्नाथ की नगरी में रहते हैं और कहते हैं कि उन्हें सदैव महाप्रभु से रेत कला दुनिया भर में पहुंचने की प्रेरणा मिलती है सुदर्शन पटनायक को भारत में  रेत की कला का जनक माना जाता है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.