विटामिन डी लेने से कम किया जा सकता है कोरोना का खतरा। जानिए कैसे

विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थ कोविड 19 के जोखिम को कम करते हैं:

अब तक यह माना जाता रहा है कि विटामिन डी का उपयोग हड्डियों, दांतों और मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए किया जाता है। लेकिन कोरोना महामारी के दौरान किए गए शोध में यह वास्तव में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और कोविड-19 जैसे वायरस से लड़ने में काफी कारगर पाया गया।

यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो मेडिसिन के नेतृत्व में शोधकर्ताओं की एक टीम डॉ। डेविड मेल्टजर ने इस पर एक अध्ययन किया। शोध से पता चला है कि विटामिन डी की कमी वाले लोगों में वायरस से संक्रमित होने की संभावना सामान्य विटामिन डी स्तर वाले लोगों की तुलना में लगभग दोगुनी होती है।

यह अध्ययन 489 मरीजों पर किया गया। अध्ययन में यह भी पाया गया कि विटामिन डी की कमी वाले लोगों में COVID-19 पॉजिटिव होने की संभावना 1.77 गुना अधिक थी।

ऐसा वैज्ञानिक कहते हैं

वैज्ञानिकों का कहना है कि विटामिन डी, जब सामान्य भोजन में लिया जाता है, तो यह हमें कोरोना से बचाने में मदद कर सकता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि विटामिन डी की कमी वाले लोगों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अधिक होता है।

विटामिन डी क्या है

विटामिन डी एक मोटा-घुलनशील विटामिन है जिसे आपका शरीर स्वस्थ रहने के लिए अवशोषित और संग्रहीत करता है, यह शरीर के कई कार्यों के लिए जिम्मेदार है जैसे कि प्रतिरक्षा को मजबूत करना, दांतों, मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत करना, मानसिक स्वास्थ्य से लेकर हृदय गति रुकना, मधुमेह और हमें भी रख सकता है कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से दूर

इस तरह आपको विटामिन डी मिलता है।

हेल्थलाइन के अनुसार, जब हम सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आते हैं, तो शरीर अपने आप ही विटामिन डी बनाना शुरू कर देता है। इसी कारण इस विटामिन को सन विटामिन भी कहा जाता है। हालांकि, कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनमें विटामिन डी होता है।

उदाहरण के लिए, सैल्मन, लीवर ऑयल, टूना, अंडे की जर्दी, मशरूम, गाय का दूध, सोया दूध, संतरे का रस, ओट फ्लेक्स आदि के सेवन से शरीर को विटामिन डी की आपूर्ति की जा सकती है। इसके अलावा आप विटामिन डी सप्लीमेंट आदि भी ले सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें :-

“1 दिसंबर तक यूरोप में 236,000 और लोगों की मौत हो सकती है कोरोना से”: WHO की चेतावनी

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.