सावधान !! मानसिक तनाव से आपका रोजगार और आमदनी भी हो सकती है प्रभावित

जी हां आप एक अध्ययन में दावा किया गया है कि मानसिक तनाव के वजह से लोगों को रोजगार भी प्रभावित हो रहा है आजकल  कि इस  दौड़ भाग भरी जिंदगी में इंसान काफी व्यस्त रहने लगा है जिस वजह से  लोगों में तनाव बढ़ रहा है आप किसी से भी बात करें हर किसी के पास कोई ना कोई टेंशन जरूर है खासकर के युवाओं में तनाव तेजी से बढ़ रहा है लोगों में बढ़ते तनाव की वजह से कई सारी  बीमारियाँ भी उनकी जिंदगी में दस्तक दे रही हैं

जब काम और जिंदगी के बीच संतुलन नहीं बन पाता या फिर ऑफिस में काम का ज्यादा दबाव या फिर हर छोटी से छोटी बात पर बहुत ज्यादा  सोचना तनाव का प्रमुख कारण है और यदि उसका जल्दी से हल नहीं निकाला जाता है तो लोग डिप्रेशन में भी चले जाते हैं यहां तक कि तनाव की वजह से लोगों की सेहत भी प्रभावित होती है और रोजगार भी प्रभावित हो सकता है अभी हाल में ही  एक स्टडी ने दावा किया है कि वे लोग जिन्हें 25 साल से पहले मानसिक विकार के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया उनमे अन्य लोगों की तुलना में रोजगार पाने की संभावना काफी कम देखी गयी

हेलसिंकी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का मानना है कि मानसिक विकार से पीड़ित व्यस्त कई सारे कारणों की वजह से नौकरी नहीं कर पाते हैं शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि उन लोगों में रोजगार पाने की दर काफी कम थी जिन्हे 25 की उम्र के पहले सिजोफ्रेनिया के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था वहीं दूसरी तरफ 25 साल की उम्र से अधिक के काम करने वाले लोगों में आधे से कम व्यक्ति ही ऐसे थे जिन्हें मूड डिसऑर्डर के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया इस अध्ययन में यह भी सामने आया है कि जो लोग युवावस्था में मानसिक विकार के दौर से गुजरे थे उन लोगों की कमाई अन्य लोगों की तुलना में काफी कम थी और बाद में भी उसमें ज्यादा सुधार नहीं हुआ शोधकर्ताओं ने अध्ययन के लिए फिनलैंड में रहने वाले 2 मिलियन से अधिक लोगों को  शामिल किया था जिनकी उम्र 25 साल से 52 साल के बीच की थी

इस अध्ययन से यह बात सामने  आई की जो लोग अपने युवा अवस्था मे मानसिक तनाव की स्थिति में  अवस्था में थे वे अपनी आगे की जिंदगी में बहुत ज्यादा तरक्की नहीं कर सके और उनकी आमदनी अन्य लोगों की तुलना में काफी कम थी तथा और उनमे रोजगारी पाने की दर भी काफी कम देखी गई यानी कि मानसिक तनाव स्वास्थ्य के साथसाथ रोजगार के अवसर को भी प्रभावित करता है इसलिए लोगों को जिंदगी में संतुलन बनाकर खुशहाल जिंदगी जीनी चाहिए और बहुत ज्यादा किसी बात को सोच कर तनाव नही लेना चाहिए

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.