सुबह उठाते ही मोबाइल चेक करने के होगे घातक परिणाम

आज के दौर में मोबाइल सभी  की जिंदगी का हिस्सा बन चुका है  । हर कोई लगभग अपना ज्यादातर समय मोबाइल के इस्तेमाल में ही बिताता है । हम इससे इतना ज्यादा जुड़  चुके हैं कि सोने से  पहले भी फोन का इस्तेमाल करते हैं और सुबह उठते ही सबसे पहली नजर फोन पर  ही डालते है । ज्यादातर लोग सुबह की अपनी शुरुआत ही मोबाइल फ़ोन के  इस्तेमाल करने से  करते है, लेकिन सुबह उठते ही सबसे पहले मोबाइल का इस्तेमाल काफी ज्यादा खतरनाक हो सकता है ।

इससे कई तरीके के नुकसान हो सकते हो सकते हैं तो  चलिए जानते हैं कि सुबह उठते ही फोन का इस्तेमाल हमें क्यों नहीं करना चाहिए यूनाइटेड किंगडम ने हाल नहीं करीब दो हजार  लोगों पर एक सर्वेक्षण कराया और इस सर्वेक्षण में पाया जिन लोगो  द्वारा सुबह उठते ही जो लोग मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं उनके दिन की शुरुआत तनाव के साथ होती है और जिसका असर दिन भर मन के कार्ड पर पड़ता है और कई सारी दिक़्क़तों का सामना  करना पड़ता है  अगर मनोवैज्ञानिकों की बात माने तो जब हम सुबह उठते हैं मोबाइल में नोटिफिकेशन देते हैं उसे से संबंधित विषय के बारे में सोचने लगता है और इस वजह से दिमाग किसी दूसरे काम में केंद्रित नहीं हो पाता और इसका सीधा असर हमारे कार्य क्षमता पर भी पड़ता है।

जो सुबह सुबह उठते हैं किसी चीज के बारे में सोचने लगते हैं उसके बारे में लगातार सोचने से तनाव और एंजायटी का स्तर बढ़ने लगता है कहीं जोश में देखने को मिला है कि कोई लोगों का ब्लड प्रेशर से बाहर होता है और ऐसे में उनके तनाव लेने की वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ने की संभावना रहती है जिससे गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि जब हम सुबह उठते हैं अपने फोन में अपने मीडिया नोटिफिकेशन को चेक करते हैं तो यह सब बातें बीते दिन से जुड़ी होती हैं ।

इसकी वजह से  बीते हुए वक्त में  जीने लगते हैं और इसके कारण अपना मन और दिमाग में नहीं लगा पते इसके कारण से हमारे दिन की शुरुआत अच्छी नहीं होती है इसलिए सुबह सबसे पहले उठते ही मोबाइल फोन नहीं चलाना चाहिए उनकी सुबह उठने के बाद थोड़ा सा मेडिटेशन और योगा कर सकते हैं क्योंकि मेडिटेशन दिमाग को शांति मिलती है और इसकी वजह से कोई भी कार्य बेहतर ढंग से करने में भी मदद मिलती है क्योंकि इससे काम पर दिमाग केंद्रित करने में सहायता मिलती है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.