रतन टाटा बने एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक

रतन टाटा उद्योगपति और टाटा समूह के मानद चेयरमैन है । रतन टाटा ने खुद को एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक बताया है । रतन टाटा ने कहा है कि उन्होंने दर्जनभर से अधिक स्टार्टअप कंपनियों में निवेश कर रखा है और निजी तौर पर किए गए निवेशों को रतन टाटा ने एक दुर्घटना बताया है । रतन टाटा ने कहा है कि है एप आधारित टैक्सी बुकिंग सेवा देने वाली ओला और डिजिटल पेमेंट पेटीएम में  उन्होंने 2015 से निवेश किया है और इन दोनों कंपनियों में निवेश करने वाले वे शुरूआती निवेशक हैं । रतन टाटा ने कहा है कि स्टार्टअप कंपनियों में निवेश करने की बात करें तो सबसे पहले उन्होंने ई कॉमर्स कंपनी स्नैपडील में निवेश किया था ।

वन97 कम्युनिकेशन जो कि पेटीएम के मालिकाना हक वाली कंपनी है,उसमें भी रतन टाटा की हिस्सेदारी है और कंपनी में रतन टाटा सलाहकार भी है । चेयरमैन सुधीर शेट्टी के साथ बातचीत के दौरान रतन टाटा ने कहा है कि “मेरा स्टार्टअप निवेशक बन जाना एक दुर्घटना यानी कि बिना सोचे विचार थे । शुरुआत में जब मैं टाटा समूह के साथ काम कर रहा था तब भी स्टार्टअप क्षेत्र मुझे अपनी ओर खींच रहा था । लेकिन इससे दूर बनाये रखी क्योंकि  यह टाटा समूह के हितों सेे टकराव था । रतन टाटा ने आगे बताया कि जब वे टाटा समूह से रिटायर हुए तो वे टाटा समूह की जिम्मेदारियों से मुक्त हो गए और उसके बाद उन्होंने खुद के पैसे से कंपनियां में छोटा-छोटा निवेश करना शुरू कर दिया” । दो-तीन साल में इससे उन्होंने काफी कुछ सीखा ।

रतन टाटा ने स्टार्टअप कंपनियों के बारे में कहा है कि स्टार्टअप बहुत अच्छा काम कर रही है ।  इसमें सबसे अच्छे दिमाग वाले काम कर रहे हैं । मालूम हो कि रतन टाटा ने लेंसकार्ट किराए पर घर उपलब्ध करवाने वाली कम्पनी और पालतू जानवरों की देखभाल करने वाली ऑनलाइन मंच  डॉग स्पॉट,  फिटनेस  के क्षेत्र की क्योर फिट, मौसम की जानकारी देने वाली स्टार्टअप कंपनी क्लेम सेल, ऑनलाइन वाहन मंच कार देखो, ऑनलाइन फर्नीचर कंपनी अर्बन लैंड जैसे स्टार्टअप कंपनियों में निवेश कर रखा है । मालूम हो कि रतन टाटा के पास कई सारे कुत्ते हैं क्योंकि उन्हें कुत्तों का बहुत शौक है । रत्न टाटा अपने सारे निवेश अपने निजी निवेशक कंपनी आरएनटी एसोसिएट्स के जरिए करते हैं । रतन टाटा उद्योगपति होने के साथ समाज सेवक भी है ।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.