ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में भीषण आग : सतर्कता बरतने की चेतावनी दी गई

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में भीषण आग लगी हुई है । शुष्क मौसम और गर्मी की वजह से लगातार आग जारी है और इस वजह से भारी तबाही की आशंका जताई जा रही है । संयुक्त राष्ट्र के मौसम विभाग विशेषज्ञों ने आस्ट्रेलिया सरकार को चेतावनी से लोगों को सचेत रहने के लिए कहा है ।

विशेषज्ञों का कहना है कि तेजी से फैलती आग और विस्फोटक स्थिति से हर हाल में सतर्कता बरतनी चाहिए । आस्ट्रेलिया में मौसम विज्ञान संगठन ने बताया कि न्यू साउथ वेल्स और दक्षिण पूर्वी क्वींसलैंड में अनेक जगहों पर आप लगी हुई है । मीडिया में रिपोर्टों के मुताबिक एक सप्ताह के भीतर आज का शिकार बनने से तीन लोगों की मौत हो चुकी है ।

संयुक्त जांच एजेंसी के प्रवक्ता क्लेयर नलिस ने बताया कि सारे विधान के तत्काल खतरे के अलावा जब प्रशासन की ओर से आग की विनाशकारी स्थिति का अलर्ट जारी किया जाता है तो संदेश स्पष्ट होता है – बाहर निकलो, दूर भागो ।

नलिस ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया की मौसम विज्ञान ब्यूरो का संदर्भ लेते हुए की स्थिति लगातार बढ़ रही है और घातक बनी हुई है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मौसम अभी शुष्क बना रहेगा और बारिश की कोई उम्मीद नहीं है ।

ऐसे में इसके अनेक कारण हैं जिनमें भूमि की नमी की कमी, गर्मी और हवा की दिशा और गति जैसे कारक भी शामिल है ।

मालूम हो कि न्यू साउथ वेल्स राज्य के कई हिस्सों में आपात स्थिति की घोषणा कर दी गई है , जिसमें ग्रेटर सिडनी और क्वींसलैंड भी शामिल है । बुरी तरीके से प्रभावित इलाकों में विनाशकारी आग के खतरे से अलर्ट के लिए  उच्चतम स्तर की चेतावनी दी जा रही है ।

आस्ट्रेलिया में झाड़ियों में सूखी घास में आग की घटनाएं होती रहती है । लेकिन आपात स्थिति के पीछे के कारणों में पिछली एक सदी में तापमान में बढ़ोतरी को भी माना जा रहा है ।

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता का मानना है कि आस्ट्रेलिया के मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार साल 2019 के जनवरी से अक्टूबर की अवधि तक दूसरा सबसे गर्म मौसम है । पिछले 110 सालों का आकलन करने के बाद यह बात कही गई है ।

यह भी पढ़ें : आस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग से हुआ भारी नुकसान

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता ने चिंता जताते हुए कहा कि आग लगने की घटना वाले मौसम की श्रेणी में आने वाले दिनों में बढ़ोतरी हो सकती है । इस जोखिम से बचने को उस क्षेत्र में रह रहे समुदाय को 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की हवाओं का सामना करना पड़ सकता है और तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से भी ज्यादा रहने की संभावना है ।

मौसम ठंडा होने पर आग लगने के खाते को होने की संभावना है । लेकिन हवा के तेज झोंके और हवा की दिशा बदलने का मतलब है प्रभावित इलाकों में रह रहे लोगों को विशेष सतर्क रहना होगा ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.