बार बार उबासी के पीछे नींद नही बल्कि कुछ और हो सकती है वजह

बहुत लोगो को बार बार उबासी आती है । बार बार उबासी का सम्बंध लोग नींद से जोड़ते है । लेकिन बहुत ज्यादा बार बार उबासी का सम्बंध नींद के बजाय कुछ गम्भीर सेहत से जुड़ी बातो से भी हो सकता है ।

हर बार उबासी का मतलब नींद आना नही होता है । लेकिन लोग जब बार बार उबासी यानी जम्हाई आती है तो समझते है कि नींद पूरी नही हुई है या नींद आ रही है । लेकिन उबासी कुछ अन्य वजह से भी हो सकती है ।

यदि आप को या आप के आसपास किसी को बहुत ज्यादा बार बार उबासी आ रही है तो सतर्क हो जाने की जरुरत है । उबासी का सम्बंध सेहत से भी हो सकता है ।

उबासी की वजह तनाव भी हो सकता है । आजकल की लाइफ भाग दौड़ भारी और तनावपूर्ण हो जा रही है । अक्सर हम सुनते रहते है कि तनाव बढ़ने से दिमाग का तापमान बढ़ जाता है और फिर जम्हाई आती है । जम्हाई लेने से हमे पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलता है और दिमाग को शांति मिलती है ।

फेफड़े की समस्या होने पर भी जम्हाई आती है । जब दिमाग को पर्याप्त ऑक्सीजन नही मिलता है और जब कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है तो फेफड़े से संबंधित परेशानी होने लगती है । तो ऐसे में लोगो को जम्हाई आती है ।

जम्हाई यानी उबासी होने से दिमाग मे ऑक्सीजन की सप्लाई सही से होने लगती है और फेफड़ा से खराब  हवा भर निकलने में मदद मिलती है । अक्सर सो कर उठने के बाद जम्हाई आती है । क्योंकि सो कर उठने पर शरीर में एनर्जी कम हो जाती है और ऐसे में जम्हाई आती है ।

कभी-कभी अधिक थकने, बहुत ज्यादा देर तक काम करने पर शरीर को ऑक्सीजन कम मिलने से एनर्जी लेवल कम हो जाती है और जम्हाई आने लगती है ।

ऑक्सीजन हमारे शरीर में एनर्जी के लेवल को बढ़ा देता है और जब हम जम्हाई लेते हैं तो हमारे शरीर और दिमाग को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन इससे मिल जाता है ।

फिर ऑक्सीजन हमारे शरीर मे एनर्जी लेवल को  बढ़ा देता है । जम्हाई ज्यादातर शरीर में ऑक्सीजन की आवश्यकता होने पर उसे करने के लिए आती है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.