जानिए रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट के बारे में

जानिए रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट के बारे में

जिस तरह से एक व्यक्ति को किसी दूसरे व्यक्ति से लड़ने के लिए शस्त्र आदि का इस्तेमाल करता है उसी तरह से हमारा शरीर भी किसी वायरस से लड़ने के लिए अपने अंदर कुछ शस्त्र जैसा रखता है जिसे वैज्ञानिक भाषा में एंटीबॉडी कहा जाता है । हमारे शरीर मे किसी वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी खुद-ब-खुद शरीर में बन जाता है और जब कोई भी वायरस शरीर में प्रवेश करता है तब यह उससे लड़ कर उसे खत्म कर देता है ।

हमारे शरीर में कई प्रकार के एंटीबॉडी पाए जाते हैं । एंटीबॉडी के बारे में जानकारी ब्लड से पता चलती है । ये एंटीबॉडी ही होते हैं जो शरीर को किसी भी संक्रमण से लड़ने में सहायता करते हैं । भारत में कोरोना वायरस के मामले दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं । इसी बीच सरकार ने फैसला किया है कि क्लस्टर और हॉटस्पॉट क्षेत्रों में एंटीबॉडी टेस्ट कराया जाएगा, इस टेस्ट में मरीजों के ब्लड सैंपल लिए जाएंगे ।

इसके लिए मरीज की उंगली में सुई चुभा कर के खून निकाला जाएगा और इसका टेस्ट किया जाएगा खास बातें है कि इस टेस्ट का 20 मिनट के अंदर ही रिजल्ट आ जाएंगे । इस टेस्ट के जरिए पता लगाने की कोशिश की जाएगी कि मरीज के ब्लड में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी काम कर रही है या फिर नहीं कर रहा है ।

भारत समेत दुनिया भर में कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए ही लॉक डाउन कर दिया गया है । पहले भारत में लॉक डाउन 21 दिन के लिए किया गया था जिसे अब 19 दिन और बढ़ाकर 3 मई तक के लिए कर दिया गया । एंटीबाडी टेस्ट को सेरोलॉजिकल टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है ।

हमारे शरीर में किसी भी वायरस के लक्षणों को पहचानने के लिए शरीर में मौजूद एंटीबॉडी को तीन-चार दिन का समय लगता है । शरीर किसी एंटीबॉडी प्रोटीन का उत्पादन तब करता है जब शरीर में किसी भी तरह का कोई संक्रमण पाया जाता है । इसलिए कोरोना वायरस के मामले में लोगों को 14 दिन तक क्वारन्टीन में रखा जाता है और उसके बाद उनका एंटीबॉडी टेस्ट किया जाता है ।

इस टेस्ट में जब रिपोर्ट नेगेटिव आती है तब उस मरीज का आरटी – पीसीआर टेस्ट करते हैं, और जब रिजल्ट पॉजिटिव पाया जाता है तो उस व्यक्ति में कोरोना वायरस के होने की पुष्टि होती है ।

इसके बाद उस व्यक्ति के संपर्क में आने वालो की खोज करके उनका टेस्ट किया जाता है । इस तरह टेस्ट में समय की बचत होती है क्योंकि इनकी रिजल्ट काफी कम समय में मिल जाते है ।

यहाँ यह बता दे कि दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 21 लाख को पार कर गई है । अगर बात भारत की करें तो भारत में पिछले 24 घंटे के अंदर 441 नए मामले कोरोना वायरस के सामने आए हैं । लेकिन यहां यह भी बता दें अभी भी भारत के 325 जिले ऐसे हैं जहां पर कोरोना वायरस नहीं पहुंचा है यानी वे पूरी तरीके से सुरक्षित है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.