एक महिला ने दावा किया है कि अनुराधा पौडवाल है उसकी असली मां

एक महिला ने दावा किया है कि अनुराधा पौडवाल है उसकी असली मां

हिंदी सिनेमा की जानी-मानी गायिका अनुराधा पौडवाल को हर कोई जानता है । अनुराधा पौडवाल की आवाज के बहुत से लोग  फैन हैं । लेकिन अब अनुराधा पौडवाल को लेकर एक चौंकाने वाली बात सामने आई है । दरअसल केरल की एक 45 वर्षीय महिला ने दावा किया है कि अनुराधा पौडवाल उसकी असली मां है ।

करमाला मोडेक्स नाम की महिला, जिसका जन्म 1974 में हुआ था, ने दावा किया है कि अनुराधा पौडवाल उसकी असली मां है और जन्म देने के 4 दिन बाद उन्होंने उसे किसी और को(उसके माता – पिता) को दे दिया था । अनुराधा पौडवाल को असली मां बताने वाली महिला केरल के तिरुवंतपुरम की रहने वाली है और उन्होंने इस संबंध में जिला परिवार अदालत में मामला भी दायर किया है ।

केरल के जिला परिवार अदालत में दायर मामले में महिला ने 50 करोड़ का हर्जाना मांगा है  । महिला का कहना है कि वह लोकप्रिय गायिका अनुराधा पौडवाल की बेटी है और जब वह 4 दिन की थी तब अनुराधा ने उसे किसी और को दे दिया था । उक्त महिला का कहना है कि उस समय अनुराधा पौडवाल मेरी परवरिश नहीं करना चाहती थी ।

महिला ने यह बात इंडियन एक्सप्रेस को  बताया और कहा कि करीब 4-5 साल पहले मेरे पिता ने मुझे बताया कि उसकी जैविक माँ अनुराधा पौडवाल है । महिला के पिता का नाम पोन्नाचन है । महिला का कहना है कि जब अनुराधा पौडवाल ने उसके माता-पिता को सौंपा था तो उस समय उसके पिता महाराष्ट्र में सेना में तैनात थे और उन दिनों उसके पिता की गायिका अनुराधा पौडवाल के साथ अच्छी दोस्ती थी ।

अनुराधा पौडवाल को अपनी मां कहने वाली महिला ने बताया कि जब मेरे पिता ने मुझे बताया कि मैं अनुराधा पौडवाल की बेटी हूं तो मैं अनुराधा पौडवाल से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने मेरा नंबर ब्लॉक कर दिया । इसके बाद महिला का कहना है कि उसने कानूनी रूप से आगे बढ़ने का फैसला किया ।

महिला का कहना है कि अनुराधा पौडवाल उसकी असली मां और वह उन्हें वापस चाहती है । अनुराधा पौडवाल को असली मां कहने वाली करमाला के वकील प्रसाद के अनुसार “तिरुवंतपुरम फैमिली कोर्ट के अनुसार अनुराधा पौडवाल और उनके बच्चों को 27 जनवरी को सुनवाई के दौरान उपस्थित रहने का आदेश मिला है”। पद्मश्री और राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से अनुराधा पौडवाल सम्मानित हो चुकी है ।

अनुराधा पौडवाल ने संगीतकार अरुण पौडवाल के साथ शादी की थी । एक वक्त बॉलीवुड में ऐसा था जब अनुराधा पौडवाल की आवाज का हर कोई दीवाना था । कहा जाता है कि गुलशन कुमार ने अनुराधा पौडवाल की खोज की थी और यह भी कहा जाता है कि गुलशन कुमार अनुराधा पौडवाल को दूसरी लता मंगेशकर बनाना चाहते थे ।

अनुराधा पौडवाल फिल्मो में गाना गाने के रूप में कैरियर की शुरुआत 1973 में आई अमिताभ बच्चन और जया बादुडी की फ़िल्म “अभिमान” से की थी । अनुराधा पौडवाल को असली पहचान 1976 में आई फिल्म “कालीचरण” से मिली जिसे सुभाष घई ने डायरेक्ट किया था, जिसके बाद अनुराधा पौडवाल ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और सफलता की बुलंदियों पर चढ़ती गई ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.