मुंह से दुर्गंध आती है तो हो जाये सतर्क

मुंह से दुर्गंध आती है तो हो जाये सतर्क, ये है डाइबिटीज की सुरुआत होने का एक लक्षण

मुंह से दुर्गंध आना एक बहुत सामान्य बात समझी जाती है। ज्यादातर लोग मुंह से दुर्गंध आने की समस्या को नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन मुंह से दुर्गंध आने की समस्या को नजरअंदाज करना कई सारी गंभीर बीमारियों को बुलावा देने जैसा है।

यदि लंबे समय से मुंह से दुर्गंध की समस्या है तो इसके लिए सबसे पहले चिकित्सक को दिखाएं क्योंकि मुंह से दुर्गंध आना डायबिटीज की शुरुआत होने का लक्षण है।

मुंह से दुर्गंध आने का सीधा संबंध मनुष्य की सांसों से होता है। कई बार यह सांस से जुड़ी समस्या के एक लक्षण के तौर पर भी समझा जाता है।

दरअसल हमारा शरीर जो भी संकेत देता है वह किसी न किसी बीमारी का संकेत हो सकता है। इसलिए शरीर द्वारा होने वाले संकेतों पर ध्यान देना जरूरी होता है ।

आइये जानते हैं मुंह से दुर्गंध आना किन किन बीमारियों के होने का संकेत हो सकता है :-

डायबिटीज :-

जिन लोगों से काफी लंबे समय से मुँह से दुर्गंध आने को समस्या बनी हुई है उन्हें सतर्क हो जाने की जरूरत है क्योंकि कई सारे शोध में पाया गया है कि मुंह से दुर्गंध आना डायबिटीज की शुरुआत होने का लक्षण है।

कई बार ऐसे में मसूड़ों से जुड़े रोग होने की संभावना बढ़ जाती है, खास करके जिनके मुंह से दुर्गंध आती है उनमें मसूड़े से जुड़े रोग पाए जाते हैं। दरअसल डायबिटीज की शुरुआत होने पर मुंह से एसीटोन जैसी दुर्गंध निकलती है।

यह भी पढ़ें : अगर काफी समय से जुकाम सर्दी नही सही हो रही है तो इसके लिए ये पांच वजह हो सकती हैं जिम्मेदार

यह खून में कीटोन के स्तर बढ़ने की वजह से देखने को मिलता है। कीटोन में ही एसीटोन पाया जाता है। यह एक ऐसा तत्व है जो डायबिटीज होने का संकेत देता है। इस तत्व के हम इस्तेमाल भी करते हैं खास करके महिलाएं।

महिलाएं नेल पॉलिश रिमूवर के तौर पर जिस तत्वों का इस्तेमाल करती है वह कीटोन ही है। यही वजह है कि डायबिटीज के मरीजों के मुंह से दुर्गंध आती है और यह एसीटोन जैसी होती है।

अगर किसी के मुंह में एसीटोन जैसी दुर्गंध आ रही है तो समझ लेना चाहिए कि खून में कीटोन का स्तर बढ़ गया है और यह डायबिटीज का शुरुआती लक्षण है।

किडनी की बीमारी होना :-

किडनी की बीमारी होने पर भी मुंह से दुर्गंध आने की समस्या देखी जाती है। जब ब्लड में यूरिया की मात्रा बढ़ जाती है तो बहुत सारे लोगों में मुंह से दुर्गंध की समस्या देखने को मिलती है।

दरअसल स्वस्थ किडनी यूरिया का फिल्टर करते रहती है लेकिन जब किडनी ठीक ढंग से काम नहीं करती है तब यूरिया का फिल्टर सही ढंग से नहीं हो पाता है ऐसे में मुंह से दुर्गंध की समस्या देखी जाती है।

किडनी से जुड़ी बीमारी होने पर शरीर में काफी बदलाव आ जाता है। कई बार ऐसे में शरीर में ड्राई माउथ यानी कि मुँह सुखनेकी समस्या भी पाई जाती है जिसके चलते मुंह से दुर्गंध आना भी देखा जाता है।

फेफड़े का संक्रमित होना

फेफड़े में जब संक्रमण हो जाता है तो मुंह से दुर्गंध की समस्या देखी जाती है क्योंकि फेफड़े का संक्रमण बलगम के जरिए बाहर निकलता है और यही वजह है कि मुंह से दुर्गंध आती है। जब फेफड़े का ब्रोंकाइटिस संक्रमित हो जाता है तब यह सूज जाता है।

यह भी पढ़ें : बिना जिम गए और बिना जेब ढीली किये इस तरह कम करें मोटापा

ऐसे में खांसी की समस्या देखने को मिलती है। खांसी के साथ बलगम भी आता है और सांसो में बदबू देखी जाती है और यही वजह है कि मुंह में दुर्गंध की समस्या पाई जाती है।

कई बार निमोनिया के संक्रमण जब फेफड़े में फैल जाते हैं तब भी मुंह से दुर्गंध की समस्या देखी जाती है क्योंकि फेफड़े में स्थित हेली फैलती है और जब यह कफ़ से भर जाती है तब मुंह से दुर्गंध आने लगती है।

लीवर से जुड़ी बीमारी :-

लीवर शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित करने का काम करता है। जब लीवर ठीक ढंग से काम नहीं कर पाता है तब ब्लड में टॉक्सिन बनने लगता है जिसके कारण मुंह से दुर्गंध आने की समस्या पाई जाती है।

कई बार पाचन से जुड़ी समस्या होने की वजह से भी मुंह से दुर्गंध आने की समस्या देखने को मिलती है। यह उसी स्थिति में होता है जब पेट में एसिड बढ़ने लगती है और भोजन नली में वापस चली जाती है इसी की वजह से सीने में जलन, गले में गांठ जैसा महसूस होना, छाती में दर्द होना, निगलने में कठिनाई महसूस होना, सूखी खांसी होना, गला बैठना जैसी समस्या देखने को मिलती है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.