ब्रिटेन में आने वाला है चक्रवाती बम तूफान !!!

अभी पिछले दिनों ही खबर आई थी कि अमेज़न और ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में भीषण आग लगी हुई है । हालांकि आस्ट्रेलिया में बारिश के बाद आग तो बुझ गई लेकिन इससे बहुत ज्यादा नुकसान हुआ । जंगली जानवर की कई प्रजातियां नष्ट होने के कगार पर पहुंच गई । अब ब्रिटेन में एक चक्रवाती तूफान आने की खबर आ रही है । इस तूफान को अब तक का सबसे भयंकर तूफान कहा जा रहा है ।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के मद्देनजर ब्रिटेन में सभी उड़ानें रद्द रद्द कर दी गई हैं और लोगों से अपील की गई है कि वे अपने पालतू जानवरों को घर में ही रखें उन्हें लेकर बाहर ना निकले नहीं तो तूफान की चपेट में आ सकते हैं । इस तूफान को डेनिश नाम से बुलाया जा रहा है । फिलहाल ब्रिटेन में आने वाले इस चक्रवाती तूफान डेनिश से लोग बहुत परेशान हैं ।

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इसे सबसे खराब उत्तरी अटलांटिक तूफानों में से एक बताया जा रहा है । वैज्ञानिकों के अनुसार यह तूफान इतना भयंकर बताया जा रहा है कि इससे ब्रिटेन की सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है । ब्रिटेन में शनिवार की सुबह को कुछ क्षेत्रों में 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही और 100 मिली मीटर बारिश भी रिकॉर्ड की गई है ।

ब्रिटेन के डेलीमेल और कुछ वेबसाइटों ने इस तूफान से जुड़ी जानकारियों के बारे में विस्तार से बताया है । यह तूफान उन इलाकों के लिए चिंताजनक है जो इलाके बाढ़ से प्रभावित हैं । मालूम हो कि यहां पर बीते सप्ताह काफी भारी बारिश हुई है और 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी चल रही थी जिससे लोग अभी उबर नहीं पाए थे और ऐसे में दूसरे तूफान ने दस्तक दे दी ।

इसके पहले जो तूफान आने थे उसे सदी का सबसे बड़ा तूफान बताया गया था । उस तूफान से एक बड़ा पेड़ गिर गया था जिसमें 3 लोग मारे गए थे । अब डेनिश द मेनेस तूफान आने की संभावना जताई जा रही है । यह तूफान ब्रिटेन के स्टॉर्म सियारा से भड़का है । पर्यावरण एजेंसियों ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि स्टॉर्म सियारा द्वारा छोड़े गए पानी से भारी जमीन के कारण नवीनतम बाढ़ की तुलना में अब तक जो देखा गया है उससे भी बदतर होने की उम्मीद है ।

एक बम साइक्लोन जिसे विस्फोटक साइक्लोन के नाम से भी जाना जाता है । एक तूफान के भीतर हवा के दबाव में गिरावट के कारण उत्पन्न होता है । आमतौर पर 74 से 95 मीटर प्रति घंटे की दर से हवा बहती है ।

एकदम चक्रवात शुरू करने के लिए हवा के दबाव को 24 घंटे के भीतर 24 मिली बार तक छोड़ देना चाहिए । जिसका अर्थ है अच्छे मौसम से खराब होने की तीव्र गति । इसी प्रक्रिया को कभी-कभी मौसम बम कहा जाता है क्योंकि बम विस्फोट की तरह ही दबाव में नाटकीय रूप से गिरावट दर्ज होती है ।

इस वजह से चक्रवात को नाम बम साइक्लोन मिला है । यह सब एक चक्रवात हवा के बढ़ते स्तंभ के साथ शुरू होता है जो चारों ओर घूमता है । हवा अधिक होने पर वैक्यूम इफेक्ट पैदा होता है जिससे दबाव कम हो जाता है ।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.