आइये जानते है सेहत के लिहाज से अरबी के पत्ते में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में

आइये जानते है सेहत के लिहाज से अरबी के पत्ते में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में

आज कल के तनावपूर्ण जिंदगी का लोगों की सेहत पर सबसे ज्यादा बुरा असर पड़ रहा है । ऐसे में स्वस्थ्य और सेहतमंद जिंदगी के लिए खानपान के लिए विशेष महत्व होता है । ऐसे में कोई भी खाद्य पदार्थ चुनने में इस बात को प्राथमिकता देनी चाहिए कि हम केवल उन्हीं चीजों को चुने जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो – जैसा कि हम सभी जानते हैं हरी पत्तेदार सब्जियां का स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण योगदान होता है क्योंकि इनमें आयरन, फाइबर जैसे कई पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं ।

हम में से बहुत लोगों ने दिल के आकार में बड़े-बड़े अरबी के पत्ते के बारे में सुना या इसे देखा होगा । पर क्या आपने कभी इन अरबी के पत्तों की सब्जी के बारे में सुना है ? हम में से ज्यादातर लोगों को इसकी सब्जी के बारे में नहीं पता होगा । मालूम हो कि यह दिल के आकार के बड़े-बड़े अरबी के पत्ते का वैज्ञानिक नाम कोलोकेसिया एस्कुलेंटा है ।

इसकी जड़ स्टार्च से भरपूर होती है और इसकी हरी पत्तियों का इस्तेमाल कई स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के लिए किया जाता है । अरबी के पत्तों को पकाकर ही खाना सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है क्योंकि अगर इन्हें कच्चा खाया जाएगा तो ये हरी पत्ते जहरीली भी साबित हो सकते हैं ।

ज्यादातर हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन, फाइबर और फैट पाया जाता है । अरबी के इस हरी पत्तेदार सब्जी में काफी कम मात्रा में कैलोरी होती है लेकिन इसमें फाइबर भरपूर मात्रा में होता है । ऐसे में यह उन लोगों को जो अपना वजन कम करना चाह रहे हैं और वजन कम करने की डाइट ले रहे हैं उनके लिए अपने भोजन में अरबी के पत्तों को शामिल करना एक अच्छा विकल्प है ।

अरबी के पत्ते में सबसे ज्यादा मात्रा में विटामिन सी और विटामिन ए पाई जाती है । 150 ग्राम अरबी के पत्ते में 35 ग्राम कैलोरी, 6 ग्राम फैट, 4 ग्राम प्रोटीन, 1 ग्राम वसा, 3 ग्राम फाइबर, 57 विटामिन सी, 34% विटामिन ए, 70% फोलेट, 14 % पोटेशियम,13% कैल्सियम, और 10% आयरन की मात्रा पाई जाती है ।

यानी कि अरबी का पत्ता कई सारे पोषक तत्वों से भरपूर होता है । इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व के कारण यह स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है । अरबी के पत्ते को पकाकर खाने से ही इसके कई सारी फायदे होते हैं: 

  • जैसा कि ऊपर बताया गया अरबी के पत्ते में विटामिन सी और फाइबर नाम की मात्रा सबसे ज्यादा होती है यानी कि अरबी का पत्ता एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और यही एंटी ऑक्सीडेंट कई बीमारियों जैसे कि ऑटोइम्यून रोग, कैंसर, दिल से जुड़ी बीमारी की प्रमुख कारक वाले कणों से लड़ने की क्षमता रखते हैं । ऐसे में अरबी के पत्ते का सेवन इन रोगों से सुरक्षित रखता है ।
  • दिल की स्वास्थ्य के लिए भी हरी पत्तेदार सब्जियों में जैसे पालक और अरबी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं । नियमित रूप से इन हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करने से दिल की बीमारियों के खतरे को काफी कम किया जा सकता है साथ ही इन हरी सब्जियों में पर्याप्त मात्रा में नाइट्रेट होता है जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में काफी मददगार होता है । इसलिए दिल को स्वस्थ रखने के लिए अरबी के पत्ते का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए ।
  • अरबी के पत्ते में बहुमुखी गुण पाए जाते हैं इसे किसी भी दूसरी सब्जी के साथ जोड़कर बनाया जा सकता है । इसमें कम वसा, फैट, कैलोरी के साथ ही उच्च फाइबर पाया जाता है जो शरीर के वजन को नियंत्रित रखने में काफी मददगार होता है । ऐसे में जो लोग अपने वजन नहीं बढ़ाना चाहते यानी कि मोटा नहीं होना चाहते । उन्हें स्वादिष्ट खाना खाना है तो इसका इस्तेमाल कर सकते हैं । अरबी के पत्ते में पानी अधिक मात्रा में होता है और शरीर के लिए पानी काफी अच्छा होता है । ऐसे में अरबी के पत्ते की डिश का सेवन करने से पेट भरा हुआ महसूस होता है और भूख नहीं लगती हसि जो वजन कम करने में मददगार है ।

अरबी के पत्ते के इस्तेमाल के प्रति सावधानी :-

अरबी के पत्ते को यदि पकाकर खाया जाता है तभी यह स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है लेकिन इसे कभी भी कच्चा नहीं खाया जा सकता है, नहीं तो कई सारी परेशानियां हो सकती हैं, क्योंकि अरबी के कच्चे पत्ते में विषाक्त पदार्थ होते हैं और यही वजह है कि इनको हमेशा पकाने के बाद ही खाना चाहिए क्योंकि इसमें ऑक्सलेट पाया जाता है इसलिए यह जहरीला होता है । कच्चे ही खाने से यह किडनी को खराब करने तथा पथरी बनने का कारण भी हो सकता है ।

यह भी पढ़ें : किशमिश का पानी है सेहत के लिए फायदेमंद

ऐसे में कभी भी अरबी के पत्ते को कच्चा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए बल्कि इसे अच्छी तरह से पकाने के बाद ही खाना चाहिए तभी उसके स्वास्थ्य के लाभों को उठाया जा सकता है । अरबी के पत्तों को विषाक्त पदार्थों से मुक्त करने के लिए इसे करीब 30 मिनट तक तब तक पकाना चाहिए जब तक यह नरम ना हो जाए । नरम हो जाने के बाद ही यह खाने के योग्य होता है और तभी इसकी पोषक तत्व का लाभ उठाया जा सकता है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.