कोरोना वायरस से लड़ने के लिए यूनिसेफ ने टिक-टॉक वीडियो शेयर किया

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए यूनिसेफ ने टिक-टॉक वीडियो शेयर किया

कोरोना वायरस चीन के बाद तेजी से दुनिया भर के अन्य देशों में फैल रहा है । भारत में भी कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ रही है । कोरोना वायरस सबसे पहले चीन में फैलना शुरू हुआ और अब पूरी दुनिया में रहने वाले लोग इस वायरस से संक्रमित हो रहे हैं और इससे संक्रमित होने वालों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के अनुसार 80फीसदी जनसंख्या इससे प्रभावित हो सकती है । इससे बचने के लिए सभी देशों को साथ मिलकर इस वायरस से लड़ना होगा । इसी बीच वियतनाम के दो लड़के ने टिक टॉक पर एक वीडियो बनाया है जिसमें ये लड़के कोरोना वायरस से बचने के लिए हाथ धोने के तरीके के बारे में बता रहे हैं ।

कोरोना वायरस का अभी तक कोई भी इलाज नहीं मिल पाया है । ऐसे में कोरोना वायरस से बचाव ही एक बेहतर तरीका है । वियतनाम के इन दोनों लड़कों का बनाया गया टिक टॉक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है । यूनिसेफ ने भी इस वीडियो को सोशल मीडिया ट्विटर पर शेयर किया है जिसे सोशल मीडिया यूजर्स देख रहे हैं ।

यूनिसेफ के द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो के जरिए यह बताने की कोशिश की है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को अपने हाथ किस तरह से साफ रखना चाहिए । कोरोना वायरस से बचाव के लिए स्वच्छता ही बेहतर तरीका है । इस वायरस से बचने का सबसे बेहतर तरीका है साबुन और पानी से अपने हाथ को बार-बार धोना ।

यूनिसेफ द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो को हजारों लाइक मिल चुके हैं । मालूम हो कि कोरोनावायरस का असर ईरान में भी देखने को मिल रहा है । कोरोना वायरस से ईरान में मरने वालों की संख्या 107 तक पहुंच गई है   भारत में भी कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या 30 हो गई है, जिसमें सबसे ज्यादा मामले गाजियाबाद, तेलंगानाऔर दिल्ली में भी कुछ मामले देखे गए हैं ।

इसी बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री मनीष सिसोदिया ने सभी सरकारी स्कूलों को 31 मार्च तक के लिए बंद रहने की घोषणा कर दी है   कोरोना वायरस के मद्देनजर भारत और यूरोपीय यूनियन सम्मेलन को फिलहाल के लिए टाल दिया गया ।

यह सम्मेलन बेल्जियम की राजधानी ब्रुसेल्स में होने वाला था । संयुक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट के अनुसार करीब 70 देश कोरोना वायरस से लड़ रहे हैं । इस वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 95 हजार तक पहुंच चुकी है । संयुक्त राष्ट्र ने अलर्ट जारी कर दिया है कि कोरोना वायरस से इंसानों को ही नहीं बल्कि इंटरनेट डिवाइस को भी खतरा है ।

संयुक्त राष्ट्र संघ की ही स्वास्थ्य एजेंसी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी जारी करते हुए बताया है कि कोरोना वायरस एक खतरनाक महामारी का रूप धारण कर रही है जिसका फायदा साइबर अपराधी भी उठाने की कोशिश में लगे हुए हैं और ये लोग खुद को संयुक्त राष्ट्र और विश्व स्वास्थ्य संगठन का प्रतिनिधि बताकर लोगों से सहायता मांग रहे हैं ।

ये लोग ना सिर्फ लोगों का आर्थिक नुकसान कर सकते हैं बल्कि उनके डाटा की चोरी भी कर सकते हैं । ऐसे में इन लोगों से सतर्क रहने की जरूरत है । इसलिए कोरोना वायरस के नाम पर होने वाली आर्थिक धोखाधड़ी से सावधान रहें और सतर्क रहें ।

संयुक्त राष्ट्र ने स्पष्ट कर दिया है कि उसने कोरोना वायरस से निजात पाने के लिए आम लोगों से किसी भी तरह की मदद नहीं मांगी है और ना ही उसकी ऐसी कोई योजना है । संयुक्त राष्ट्र हर पल कोरोना वायरस के असर की निगरानी कर रही है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.