भारतीय रेलवे का फैसला : 31 मार्च तक के लिए सभी ट्रेने निरस्त हुई

भारतीय रेलवे का फैसला : 31 मार्च तक के लिए सभी ट्रेने निरस्त हुई

भारतीय रेलवे ने कोरोना वायरस के चलते वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है । कोरोना वायरस चलते भारतीय रेलवे 22 मार्च से 31 मार्च तक के लिए सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया है । इस दौरान कोई भी ट्रेन नहीं चलेगी लेकिन मालगाड़ी चलेगी । बता दे 22 मार्च यानी कि आज के दिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू की अपील करते हुए लोगों से अपील की है कि वे सुबह 7 बजे से रात 9 बजे के बीच अपने घरों में रहे और बाहर ना निकले ।

जनता कर्फ्यू के बाद अब रेलवे ने भी कोरोना वायरस से बचने के लिए अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए ऐसा बड़ा फैसला लिया है । इसके पहले रेल मंत्रालय ने फैसला लिया था कि शनिवार की रात 12:00 बजे से रविवार रात 10:00 बजे के बीच भारत में याद रेल यातायात को पूरी तरीके से बंद रखा जाएगा, ज्यादातर ट्रेनों को रेलवे ने पहले ही रद्द कर दिया है और अब रेलवे ने एक नया आदेश जारी करते हुए मालगाड़ियों को छोड़कर 22 मार्च की मध्यरात्रि से 31 मार्च तक के बीच चलने वाली सभी ट्रेनों को निरस्त कर दिया है ।

रेलवे के नए आदेश की जानकारी रेलवे के एक प्रवक्ता ने दी है । इसके अलावा रेल मंत्रालय की वेबसाइट पर भी सूचना दे दी गई है । रेल मंत्रालय ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए लोगों को यह जानकारी पहुंचाने का आदेश दिया है और ट्रेन के यात्रियों को s.m.s. के माध्यम से भी इस बात की सूचना दी जा रही है ।

कोरोना वायरस के चलते ट्रेनों के संचालन को रोक दिया गया है और सिर्फ मालगाड़ी ही चलेगी जिससे देश के विभिन्न हिस्सों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति को सुनिश्चित किया जा सके । इसके पहले प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू द्वारा लोगों से अपील की गई थी कि वे अपने घर के अंदर रहे ।

मालूम हो कि भारत में करोना वायरस के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं और अभी तक कोरोना वायरस के 341 मामले की पुष्टि हो चुकी है और कोरोना वायरस से भारत में मरने वालों की संख्या बढ़कर छह पहुंच गई है ।

पहले जनता कर्फ्यू और उसके बाद 31 मार्च तक के लिए ट्रेनों के रद्द करने के आदेश के बाद रेलवे ने अपने यात्रियों को सहूलियत देते हुए उनके किराए को वापस करने की आदेश दिया है तथा जो लोग एडवांस में टिकट की बुकिंग की है उन लोगों को सहूलियत दी है कि 45 दिन तक अब वे अपने टिकट को रद्द करा सकेंगे और अपने पैसे को रिफंड कर सकेंगे ।

रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि 21 मार्च से 15 अप्रैल तक के लिए जितनी ट्रेनें निरस्त की गई है उनको 45 दिन तक कैंसिल किया जा सकेगा । इसके अलावा यदि कोई ट्रेन निरस्त नहीं की गई है और इसके बावजूद यात्री यात्रा नहीं करना चाहता है तो भी 30 दिन के अंदर टिकट डिपॉजिट रिसिप्ट स्टेशन पर जमा कराकर वह अपने किराया वापस ले सकता है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.