क्या एक वक्त के बाद शरीर कोरोना वायरस के प्रति प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेगा ?

कोरोना वायरस के मामले जिस तेजी से पूरी दुनिया मे बढ़ रहे है यह हर किसी के चिंता का सबब बन गया है । हर दिन कोरोना वायरस से मारने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है । हर तरफ कोरोना वायरस को जानलेवा बताया जा रहा है । कोरोना वायरस से संक्रमित होने और मरने वालों की बढ़ती संख्या की वजह से लोगों में घबराहट और डर बैठ गया है ।

मालूम हो कि साल 2009 में स्वाइन फ्लू की महामारी बनकर पूरी दुनिया में फैला था और 2009 से 2010 के बीच स्वाइन फ्लू के वायरस की वजह से दुनियाभर में करीब 140 करोड प्रभावित हुए थे और स्वाइन फ्लू की वजह से मरने वालों की संख्या पांच लाख तक पहुंच गई थी ।

आज से 10 साल पहले स्वाइन फ्लू के बाद अब कोई भी मामला इसका सुनने को नहीं मिलता है क्योंकि धीरे धीरे लोगों का शरीर स्वाइन फ्लू के प्रति प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लिया ।

ऐसे में सवाल ये उठ रहा है कि क्या  कोरोना वायरस से भी शरीर कुछ समय बाद प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेगा । क्योंकी जिस रफ्तार से कोरोना वायरस फैल रहा है उस को नियंत्रित करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने बहुत जरूरी हो गए हैं ।

अभी हाल में आई एक रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस के खिलाफ कुछ लोगों में इम्यूनिटी क्षमता बन गई है रिपोर्ट के इस दावे को सही साबित करने के लिए अभी और ज्यादा शोध की आवश्यकता है ।

कोरोना वायरस 150 से भी ज्यादा देशों में फैल चुका है और यह उन लोगों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक है जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है या फिर जो लोग डायबिटीज, हार्ट और इस तरह की गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं ।

वहीं डॉक्टर का मानना है कि हमारा शरीर प्रतिरक्षा स्मृति के आधार पर प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित करता है । यह तब होता है जब हमारा शरीर किसी एक निश्चित वायरस के संपर्क में आ जाता है । हालांकि यह नहीं कहा जा सकता है कि प्रत्येक व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली किसी भी वायरस के लिए एक जैसे प्रतिक्रिया करेंगी ।

यह भी पढ़ें : भारत में आधी से अधिक आबादी में कोरोना वायरस फैलने का खतरा

कोरोना वायरस को लेकर डॉक्टर का मानना है कि यह वायरस उतना घातक नहीं है बल्कि यह भी एक सामान्य फ्लू वायरस है और इस समय समस्या सिर्फ यह है कि इस वक्त संक्रमण काफी ज्यादा तेज है और इसका संक्रमण सामान्य वायरस से 10 गुना तेज ज्यादा है ।

यह बात चिंताजनक है । कोरोना वायरस से बचने का सिर्फ एक ही तरीका है कि खुद को आइसोलेशन में रखा जाए और घर पर आराम किया जाए । जिन लोगों में हल्का इन्फेक्शन देखने को मिल रहा है उन लोगों की संख्या 80 से 50% तक है ।

ऐसे में ये लोग खुद को आइसोलेट करके घर में आराम करें तो जल्दी ठीक हो जाएंगे । कोरोना वायरस से पीड़ित हर कोई मर नही रहा है काफी ज्यादा संख्या में लोग इससे ठीक भी हो जा रहे है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.