जल्दी जल्दी पानी पीने से कोरोना वायरस नही होगा !

जल्दी जल्दी पानी पीने से कोरोना वायरस नही होगा !

दुनिया भर में तेजी से फैल रही महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से इसके बचाव के लिए तरह-तरह के उपाय से संबंधित शोध किये जा रहे है और अभी तक कोई भी निश्चित दवा उपलब्ध नहीं हो पाई है ना इसके लिए कोई टीका ही बनाया जा सका है । हालांकि इस दिशा में किए गए कई शोधों के सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं ।

इस वायरस से बचने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन और कई सारी स्वास्थ्य एजेंसियों द्वारा विभिन्न शोधों के आधार पर परामर्श जारी किये जा रहे हैं । लेकिन इसी बीच सोशल मीडिया पर भी वायरल संक्रमण को रोकने के लिए तरह-तरह के उपाय सुझाए जा रहे हैं ।

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक उपाय काफी ज्यादा ट्रेंड कर रहा है जिसमें यह कहा जा रहा है कि अगर हर 15 मिनट में पानी पिया जाए तो इससे कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा बेहद कम हो जाता है । इस वायरल पोस्ट में कहा जा रहा है कि  यदि मुंह और गला हमेशा गिला रहेगा तो इससे कोरोनावायरस शरीर में नहीं जा सकेगा ।

मुंह तथा गले को हर वक्त गिला रखने के लिए जरूरी है कि हर 15 मिनट में पानी पिया जाए  इसके अलावा इससे पेट में बनने वाले एसेट की वजह से जब कोरोनावायरस शरीर के अंदर जाएगा तो वह मर जाएगा । लेकिन ऐसे में यह जानना बेहद जरूरी है कि सोशल मीडिया पर किया गया या पोस्ट कितना सही है और इस संबंध में वैज्ञानिक अपना क्या विचार रखते हैं ।

लंदन स्कूल आफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन  की वैज्ञानिक कल्पना सबापैथी बीबीसी फ्यूचर से बातचीत के दौरान बताया कि संक्रमण किसी एक वायरल कारण की वजह से नहीं होता है बल्कि इसमें हजारों लाखों पार्टिकल भी शामिल होते हैं । इसलिए अगर हम हर 15 मिनट में पानी पीकर अपने ग्रास नली की सफाई रखें तो इससे बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ने वाला है ।

इसके अलावा अगर वायरस पेट में भी चला जाए तो उससे पेट में बनने वाले एसिड की वजह से वह अपने आप मर जाएगा, लेकिन करोना वायरस का संक्रमण आंख नाक के जरिए भी शरीर में प्रवेश कर सकता है ।

वहीं अगर किसी संक्रमित व्यक्ति के द्वारा खाँसा या छींका जाता है तो इस दौरान निकलने वाले ड्रॉपलेट्स अन्य दूसरे व्यक्तियों में सांसो के जरिये उन के शरीर के अंदर जाकर उसे भी संक्रमित करने की क्षमता रखते हैं ।

कोरोना वायरस के दौरान मरीजों में डायरिया के लक्षण भी देखने को मिले हैं । ऐसे में चीन के वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोनावायरस पाचन तंत्र को भी संक्रमित करने की क्षमता रखता है । वहीं पिछले दिनों आई एक रिपोर्ट में बताया गया है कि कोरोना वायरस के संक्रमण संक्रमित व्यक्ति के मल में भी मौजूद रहते हैं ।

ऐसे में इस बात की भी संभावना बढ़ जाती है यह मक्खियों के द्वारा भी फैल सकते हैं यानी कि इस तरह बात साफ हो जाती है कि पानी पीने से करोना वायरस के खतरे को नहीं रोका जा सकता क्योंकि फिलहाल इस संबंध में वैज्ञानिकों द्वारा पुष्टि नहीं हो पाई है ।

पानी पीना एक अच्छी आदत में गिना जाता है । इससे पेट से और आंत से संबंधित बीमारियां होने की संभावना बेहद कम हो जाती है लेकिन बिना किसी वैज्ञानिक पुस्टि के इस तरह की सोशल मीडिया पोस्ट पर यकीन करना काफी ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है । इसलिए सावधान और सतर्क रहिये ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.