ट्रम्प ने दी चेतावनी : कोरोना वायरस के लिए चीन भुगतेगा !

ट्रम्प ने दी चेतावनी : कोरोना वायरस के लिए चीन भुगतेगा !

जैसा कि सभी को मालूम है कोरोना वायरस का सबसे पहला मामला चीन में देखा गया था । सबसे पहला मामला चीन में दिसंबर में आया था और नए साल की शुरुआत के साथ ही यह एक दूसरे के जरियर काफी तेजी से फैलने लगा । चीन में एक शहर है – वुहान, जहां पर कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी और कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या सबसे ज्यादा यहीं पर पाई गई और यहीं से करोना वायरस सारी दुनिया में फैला है ।

इस वायरस से लाखों लोगों की मौत हो चुकी है ।कोरोना वायरस को लेकर चीन पर संदेह किया गया है कि यह उसके केमिकल वेपंस का हिस्सा है । वही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कुछ समय पहले कोरोनावायरस को चीनी वायरस कहा था ।

अब अमेरिकी राष्ट्रपति ने फिर से चीन को धमकी दी है । ट्रंप ने कहा है कि अगर कोरोनावायरस के लिए चीन जिम्मेदार पाया गया तो उसे सजा भुगतनी होगी । मालूम हो कि करोना वायरस से मरने वालों की संख्या अमेरिका में काफी ज्यादा पाई जा रही है । इस मौके पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के द्वारा कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाने के लिए उठाए जा रहे कदमों की भी सराहना की है ।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका उन सारी खबरों पर विशेष ध्यान दे रहा है जो कोरोनावायरस के संदर्भ में कहीं जा रही हैं कि यह चीन के वुहान की प्रयोगशाला में बनाया गया था ।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा कि हमें ऐसा लग रहा है कि इस खबर में कुछ सच्चाई है ।मालूम हो कि कई सारी एजेंसियों ने यह दावा किया है कि दुनिया मे महामारी बना यह कोरोना वायरस चीन के वुहान शहर में स्थित इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी की प्रयोगशाला से कोरोना वायरस लीक हुआ था ।

अमेरिका विभिन्न एजेंसियों द्वारा किए जा रहे पड़ताल की खुफिया जानकारी इकट्ठी करके इसकी जांच कर रहा है । डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अब कई चीजें हो रही है जिससे काफी कुछ साफ हो रहा है लेकिन हमें सच्चाई का पता लगाने के लिए और ज्यादा जांच की आवश्यकता है ।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि चीन ने दावा किया है कि एक खास चमगादड़ के वजह से यह वायरस फैला है लेकिन यह खास चमगादड़ उस क्षेत्र में नहीं पाया जाता है । इसलिए चीन पर संदेह किया जा रहा है ।डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी दावा किया है कि कोरोना वायरस से मारने वालों की वास्तविक संख्या चीनी ने छुपाई है । चीनी जो भी आंकड़ा बताएं उससे ज्यादा है वहां के मरने वालों की संख्या है, क्योंकि चीन ने जो आंकड़ा पहले जारी किया था और जो आंकड़ा अभी जारी किया वो पहले से दुगना है । मालूम हो कि अमेरिका ने वुहान में चतुर्थ स्तर की प्रयोगशाला के लिए दिए जाने वाले अनुदान पर रोक लगाने की बात कही है ।

इसके पहले बराक ओबामा के प्रशासन के समय अमेरिका ने चीन को 37 हजार डॉलर का अनुदान दिया था और अब डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी दी है कि वह इस धनराशि को जल्द ही बंद कर देंगे । उन्होंने सीनेट के नेतृत्व को इस संबंध में पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि वुहान इंस्टीट्यूट आफ बायोलॉजी के लिए दिए जाने वाले अनुदान को भविष्य में रोक दिया जाए और कोरोना वायरस के संबंध में भी किसी भी प्रकार की सहायता चीन को न दी जाए ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.