खिलाड़ियों की मेंटल फिटनेस पर धोनी के विचार

खिलाड़ियों की मेंटल फिटनेस पर महेंद्र सिंह धोनी के विचार

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने खिलाड़ियों के मेंटल फिटनेस की जरूरत पर अपने विचार रखे हैं । विभिन्न खेलों में प्रदर्शन के लिए मानसिक अनुकूलन कार्यक्रम का भी महेंद्र सिंह धोनी ने समर्थन किया है और इस मुद्दे पर अपने विचार रखे हैं । धोनी ने एम4 की ओर से जारी एक विज्ञापन में कहा है कि भारत में मानसिक स्वास्थ्य को स्वीकार करना एक बड़ा मुद्दा है और मानसिक स्वास्थ्य के विभिन्न पहलुओं को लेकर अगर कोई कमजोरी है तब आमतौर पर इसे मानसिक बीमारी कहा जा सकता है ।

इस दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने विभिन्न खेलों के कोचो की से बातचीत भी की है और उसके बाद उन्होंने अपने नजरिए को रखा है । मालूम होगी कोरोना वायरस महामारी की वजह से देश भर में खेलो का आयोजन रद्द चल रहा है लॉक डाउन है । लॉक डाउन  से पहले एमफोर का कार्यक्रम आयोजित किया गया था तब धौनी ने अपनी बात कही थी । मालूम होगी धोनी एक धैर्यवान और हार को जीत में बदलने वाले खिलाड़ी के तौर पर जाने जाते हैं ।

धोनी के अंदर विपरीत परिस्थितियों में गजब का धैर्य रखने की क्षमता ही उनकी सबसे बड़ी खासियत है ।

भारतीय टीम में रहते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने ऐसे-ऐसे कारनामे किए हैं जो असंभव थे लेकिन महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें सम्भव करके दिखाया है । शायद यही वजह है कि धोनी को कैप्टन कूल भी कहा जाता है । धोनी क्रिकेट खेलने के दौरान विपरीत परिस्थितियों में भी लक्ष्य को हासिल करने और मैच को जीतने के लिए जाने जाते हैं । ऐसे में धोनी का नजरिया मेंटल फिटनेस के संबंध में काफी ज्यादा मायने रखता है । मालूम हो कि साल 2019 में जुलाई में खेले गए विश्व कप मैच के बाद से ही महेंद्र सिंह धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर है ।

यह भी पढ़ें : क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से जुड़ी कुछ बातें

धोनी ने कहा कि कोई भी नहीं कह सकता कि बल्लेबाजी के दौरान उनके भी दिल की धड़कन बढ़ती है और उन्हें भी डर और दबाव महसूस होता है और सिर्फ वो ही नहीं बल्कि सभी खिलाड़ी इस तरह के दबाव महसूस करते हैं । धोनी ने यह भी कहा कि छोटी-छोटी समस्याओं को लेकर कई बार खिलाड़ी कोच से कहने में असहज होते हैं और इसलिए खेल के क्षेत्र में कोच और खिलाड़ी का रिश्ता अच्छा होना बहुत ज्यादा मायने रखता है ।

वहीं भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि मानसिक स्वास्थ्य न सिर्फ खेल के लिए बल्कि जीवन के संदर्भ में एक महत्वपूर्ण पहलू है । बता दें एमफोर के संस्थापक भारत के पूर्व बल्लेबाज एस बद्रीनाथ तथा श्रवण कुमार हैं और इन्होंने स्टार स्पोर्ट्स पर 10 मई को माइंड फिटनेट कार्यक्रम के आयोजन की तैयारी की है, जिसमें भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, भारतीय टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली, बल्लेबाज आर अश्विन और  इनके अलावा विभिन्न खेलों से जुड़े खिलाड़ी भी रहेंगे जो खेल और मानसिक स्वास्थ्य के संबंध में अपने विचार स्पष्ट करते हुए देखे जायेंगे ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.