7 अप्रैल : विश्व स्वास्थ्य दिवस कब से और क्यो मनाया जाता है

7 अप्रैल : विश्व स्वास्थ्य दिवस कब से और क्यो मनाया जाता है

आज दुनिया का लगभग हर देश कोरोना वायरस की महामारी से परेशान है । ऐसे में स्वास्थ्य दिवस के बारे में जानना और उसके महत्व के बारे में जानना बेहद जरूरी है । हर साल 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है । सबसे पहले विश्व स्वास्थ्य दिवस 1950 में मनाया गया था । विश्व स्वास्थ्य संगठन जिसे हम डब्ल्यूएचओ के नाम से भी जानते हैं, उसकी स्थापना 7 अप्रैल को की गई थी और उसी की वर्षगांठ के रूप में हम विश्व स्वास्थ्य दिवस हर साल 7 अप्रैल को मनाते हैं ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन का मुख्यालय स्विट्जरलैंड जिनेवा में है । विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनियाभर में  स्वास्थ्य समस्याओं पर अपनी नजर रखते हैं साथ ही उनके निवारण के लिए  मदद करता हैं । मालूम हो कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी संयुक्त राष्ट्र की ही एक संस्था है । विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना  72 साल पहले 1948 में 7 अप्रैल के दिन हुई थी ।

स्थापना के समय इस पर 61 विकसित देशों में  हस्ताक्षर किए थे । उसके बाद हर साल 1950 से 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाने लगा  । विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाने का मुख्य मकसद दुनिया भर के स्वास्थ्य समस्याओ और उससे जुड़ी समस्याओं पर  विचारों का आदान प्रदान करना तथा विचार विमर्श करना रहा है । इसका मकसद लोगों को स्वास्थ्य के लिए सुविधा मुहैया कराने के साथ-साथ जागरूक करना है तथा मिथकों और अफवाहों से को दूर करना है ।

विभिन्न देश की सरकारे स्वास्थ्य संबंधी नीतियां बनाकर विश्व स्वास्थ्य संगठन के उद्देश्य की पूर्ति करते हैं । जब विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना हुई थी तब से अब तक विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कई सारी बीमारियों का खात्मा किया है जिसमें से स्मॉल चिकन पॉक्स प्रमुख महामारी है जिसे खत्म करने में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ।

साथ ही भारत को पोलियो मुक्त करने में भी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सहयोग दिया था । वर्तमान में कोरोनावायरस के अलावा विश्व स्वास्थ्य संगठन टीबी, एचआईवी, एड्स और इस तरह की तमाम जानलेवा बीमारियों के रोकथाम के लिए लगातार काम कर रहा है । इस साल का विश्व स्वास्थ्य दिवस उन तमाम नर्सों पर समर्पित है जो इन दिनों कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों के इलाज में लगे हुए हैं ।

मालूम है कि दुनिया भर में 13 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और करीब 73 हजार लोगों की मौत करोना वायरस की वजह से हो चुकी है और दुनिया भर के डॉक्टर और नर्स दिन रात कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की जान बचाने में लगे हुए है ।

इस साल की थीम “#SupportNursesAndMidwive#” है । विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा निशुल्क स्वास्थ्य जांच की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है तथा स्पेशल हेल्थ कैंप भी जगह-जगह लगाकर लोगों को जागरूक किया जाता है । इस बार इस तरह का आयोजन कोरोना वायरस के चलते तो नहीं हो सकता । लेकिन हम सभी अपनी तरह से स्वास्थ्य कर्मियों का आभार और सम्मान प्रकट कर सकते है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.