ऑस्ट्रेलिया में नारंगी हुआ आसमान घुटने लगा लोगों का दम

ऑस्ट्रेलिया में नारंगी हुआ आसमान घुटने लगा लोगों का दम

भारत की राजधानी दिल्ली और एनसीआर के आसपास के राज्य में पराली जलाने से प्रदूषण की समस्या उत्पन्न हो गई है तो वही ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में भी आग लगने की वजह से सिडनी के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में आग लगने की वजह से सिडनी के आसमान नारंगी रंग के दिखने लगे और हवा खराब हो गई, लोगों को आंखों में जलन महसूस होने लगी और सांस लेने में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ।

चारों तरफ आसमान में सिर्फ धुँआ ही धुँआ ही दिखाई दे रहा है । ऑस्ट्रेलिया के जंगल में लगी हुई है । एझ आग का देश की राजधानी सिडनी में सबसे अधिक प्रभाव देखने को मिल रहा है । सिडनी टूरिस्ट प्लेस हैं इस वजह से उन जगहों पर धुआं हो जाने की वजह से ट्यूरिस्ट वहा जाने से बच रहे हैं ।

मालूम हो कि बीते चार-पांच दिन से यह समस्या बनी हुई है । फायर ब्रिगेड के लोग आग बुझाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन अभी तक पूरी तरीके से कामयाब नहीं हो पाए हैं । समान परिस्थितियों में सिडनी के बंदरगाह क्षेत्र में आसमान साफ रहता है तो नीला दिखाई देता था लेकिन बीते कुछ सप्ताह में प्रदूषण के कारण प्रदूषण से धुँआ आसमान पर छा गया हैं । एझ वजह से आसमान का रंग नारंगी या फिर गहरे भूरे रंग में दिखने लगा है ।

मालूम हो कि आस्ट्रेलिया के हजारों हेक्टेयर में फैले जंगल में आग काफी बड़े पैमाने पर  लगी है और धुँआ आसमान में उड़ रहा है और लोग इन जहरीले धुओं के कारण परेशानी का सामना कर रहे हैं । धुँए की वजह से विजिबिलिटी कम हो गई है । इस परिस्थिति में उन लोगों के लिए समस्या और भी ज्यादा बढ़ गई है जिन्हें पहले से सांस लेने में किसी भी तरह की समस्या थी और ये लोग अब घरों में कैद हो गए हैं ।

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में वातावरण में चारों तरफ से धुँए की वजह से घरों से बाहर निकालने वाला हर शख्स धुँए से बचने के लिए मुंह को ढक कर बाहर निकल रहा है । हर कोई अपने चेहरे को किसी ना किसी तरह से मास्क से ढक रहा है और लोग घरों में अपने दरवाजे और खिड़कियों को बंद रख रहे हैं । यहां रहने वाले लोगों का कहना है कि इतनी जहरीली हवा इससे पहले उन्होंने कभी नहीं देखी । इस हवा में सांस लेने में परेशानी हो रही है और लोगों को घुटन महसूस हो रही है ।

फेफड़े में पर्याप्त मात्रा ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रही है । वहीं जो लोग टैक्सी और बाहर गाड़ियों को चलाते हैं उन लोगों का कहना है कि इन दिनों कुछ ही घंटे गाड़ी चलाने के बाद आंखों में जलन महसूस होने लगती है । स्थिति ऐसी बन गई है कि धुँए की वजह से स्कूलों में स्पोर्ट्स इवेंट तक को रद्द कर दिया गया है । सिडनी ऑस्ट्रेलिया प्रांत के न्यू साउथ वेल्स की राजधानी है ।

पर्यावरण विभाग के अनुसार जंगल में लगी आग से इस क्षेत्र में इतना ज्यादा प्रदूषण फैल गया है जो पहले कभी नहीं देखा गया । 2016 में प्रकाशित एक शोध के अनुसार आस्ट्रेलिया इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ एंड वेलफेयर अनुमान लगाया है कि देश में प्रदूषण के कारण हर साल लगभग 3000 मौतें हो रही हैं ।

अभी हाल में ही हफ्ते भर में दमा और सांस संबंधी समस्याओं के अधिक मामले सामने आए हैं और आपातकालीन विभाग में एंबुलेंस के लिए सामान्य दिनों से अधिक फोन कॉल आए हैं । मौसम विज्ञान से मिली जानकारी के अनुसार जंगल में लगी आग का असर कम से कम अभी शनिवार तक सिडनी के आसपास के क्षेत्रों में रहेगा । मालूम हो कि सिडनी क्षेत्र में अक्टूबर के बाद से ही आग लगने के 7000 से भी ज्यादा घटनाएं हो चुकी हैं जिसमें 20 लाख हेक्टेयर से ज्यादा भूमि पर लगे जंगल जल गए ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.