रिद्धिमान साहा का “सुपरमैन वाली ड्राइव” के संबंध में बडा खुलासा

भारत के अनुभवी विकेटकीपर और बल्लेबाज रिद्धिमान साहा को “सुपरमैन साहा” कहा जा रहा है । रिद्धिमान साहा को यह नाम बांग्लादेश के खिलाफ पहले डे नाईट टेस्ट के दौरान शानदार ड्राइव करके कैच लेने पर दिया गया था । 35 वर्षीय रिद्धिमान साहा डे नाइट टेस्ट मैच में अपने टेस्ट कैरियर के 100 वें शिकार को पूरा किए था ।

यह कारनामा करने वाले हुए साहा भारत के पांचवें विकेट कीपर बने थे । इस टेस्ट मैच के दौरान रिद्धिमान साहा के दाएं हाथ की अंगुली में चोट भी लग गई थी और सफलतापूर्वक उसका ऑपरेशन भी हो गया है ।

जब रिद्धिमान साहा से पूछा गया कि आप सुपरमैन साहा के तौर पर जाना जाने लगे हैं । आप मुश्किल कैच को कैसे लपक लेते हैं ? तो जवाब में रिद्धिमान साहा ने कहा कि “मैंने सोच समझकर ड्राइव नहीं लगाई क्योंकि दूधिया रोशनी में गुलाबी गेद ज्यादा हिल रही थी ।

रोशनी भी उतनी अच्छी नहीं थी । अगर गेंदबाज की गति कम होती तो एक कदम बढ़ कर कैच ले सकता था लेकिन गेंद की रफ्तार 140 किलोमीटर प्रति घंटे थी ।

मैंने कोई योजना बनाकर ड्राइव नहीं लगाई बल्कि सब शरीर ने किया सब कुछ खुद ब खुद हो गया । सुपरमैन का नाम मिलने के विषय पर रिद्धिमान साहा ने कहा कि यह नाम लोगो न लिया मेरा काम मैदान पर जाकर गेंद रोकना है । एक दो बार ऐसा भी हुआ है जब ड्राइवर लगाने के बाद भी गुलाबी गेंद हाथ से निकल गई ।

मेरी कोशिश ज्यादा से ज्यादा गेंद पकड़ने की रहेगी । साहा ने चोट लगने पर टीम मेंजघ के संबंध में कहा कि किसी की भी जगह सुरक्षित नहीं है, हर कोई अच्छा प्रदर्शन करके अपनी जगह बचाना चाहता है और वह भी यही कर रहे हैं । हर कोई अपनी टीम या देश के लिए अच्छा करने की कोशिश करता है । रिद्धिमान साहा ने कहा कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में भारतीय टीम का प्रदर्शन अच्छा चल रहा है ।

बांग्लादेश को हमने सीरीज के मैच में दो दिन में ही हराया और पिछले विदेशी दौरे पर खेलो जैसे कि आस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में पूरी सीरीज में भी एकाद मैच ऐसा होगा जो एक तरफा हो गया हो ।

साहा ने भारतीय टीम के विदेश दौरे के बारे में कहा कि जब हम बाहर जाएंगे तो हम अंडरडॉग होकर नहीं बल्कि दावेदार के तौर पर जाएंगे । हमारे पास मजबूत बल्लेबाजी और गेंदबाजी है । हम किसी भी हालात में शानदार प्रदर्शन कर सकते है ।

मालूम हो कि रिद्धिमान साहा को चोट लगने के बाद डॉक्टर ने उन्हें एक महीने के लिए आराम करने को बोला है । अब जब वह पूरी तरह ठीक हो जाएंगे तब वह मैदान पर उतरेंगे । उम्मीद है कि वह पहले रणजी मैच खेलेंगे और उसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के आखिरी टेस्ट मैच में मौका मिल सकता है ।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.