दुनिया की सबसे युवा प्रधानमंत्री हैं फिनलैंड की प्रधानमंत्री

दुनिया की सबसे युवा प्रधानमंत्री के तौर पर जानी जा रही सना मारिन । सना मारिन फिनलैंड की प्रधानमंत्री बनाई गई है ,जिनकी उम्र महज 34 साल है । जी हाँ !  सना मारिन फिनलैंड की नई प्रधानमंत्री बनी है जिनकी उम्र महज 34 साल की है । वह फिनलैंड के राजनीतिक इतिहास में सबसे युवा प्रधानमंत्री हैं ।

मालूम हो कि इसके पहले फिनलैंड के पूर्व प्रधानमंत्री साउली निनिस्तो ने अपने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दिए थे तभी से इस बात का कयास लगाया जा रहा था कि सना मारिन को प्रधानमंत्री बनाया जाएगा । मालूम हो कि सना मारिन इसके पहले परिवहन और संचार मंत्री थी । अब सना मारिन  दुनिया की सबसे युवा प्रधानमंत्री हैं ।  सना मारिन से पहले है यह खिताब यूक्रेन के प्रधानमंत्री ओलेक्सी होंचेरुकी के नाम था । उस समय यह दुनिया के सबसे युवा प्रधानमंत्री थे ।

लेकिन अब मारिन मात्र 34 साल की उम्र में प्रधानमंत्री का पद धारण कर दुनिया की सबसे युवा प्रधानमंत्री का खिताब अपने नाम कर लिया । प्रधानमंत्री के पद पर चुने जाने के बाद सना मारिन ने कहा कि वे अपनी उम्र या लिंग के बारे में नहीं सोचती ।

सना मारिन ने कहा “मैंने अपनी उम्र लिंग के बारे में कभी नहीं सोचा, मै मेरे राजनीति में आने के कारणों और उन चीजों के बारे में सोचती हूँ, जिनके लिए मतदाताओ ने हम पर भरोसा जताया है” । मालूम हो कि फिनलैंड इन दिनों राजनीतिक अस्थिरता के दौर से गुजर रहा है . साल की शुरुआत में डाक कर्मचारियों ने हड़ताल की थी और यह 27 नवंबर को समाप्त हुआ ।

लेकिन अभी भी फिनलैंड में राजनीतिक अस्थिरता बनी हुई है । इसी हड़ताल के बाद निष्क्रियता की वजह से साउली निनोस्तो ने अपना विश्वासमत खो दिया और उन्हें अपना पद त्यागना पड़ा । मालूम हो सना मारिन का जन्म 16 नवंबर 1985 को हुआ था और वह पहली बार 2015 में सांसद चुनी गई थी ।

सरकारी मंत्रिमंडल में पहली बार उन्हें 2019 में शामिल किया गया और परिवहन और संचार मंत्री बनाया गया था । सना मारिन 2012 में प्रशासनिक विज्ञान में टैम्पीयर विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल की है । उसके बाद वो राजनीति में सक्रिय हुई । 2017 में उन्हें सिटी काउंसिल के लिए चुना गया । मारिन समान लिंग वाले पार्टनर की संतान है ।

फिनलैंड उत्तरी यूरोप का एक देश है जिसकी राजधानी हेलसिंकी है । फिनलैंड के पश्चिमी सीमा में स्वीडन, पूर्वी सीमा में रूस और उत्तर नार्वे स्थित है । क्षेत्रफल के हिसाब से फिनलैंड यूरोप का आठवां सबसे बड़ा, जनसंख्या घनत्व के आधार पर यह सबसे कम आबादी वाला देश है । ऐतिहासिक रूप से यह स्वीडन का ही हिस्सा रहा है और 1809 से 1917 तक फिनलैंड रूसी साम्राज्य में एक स्वायत्त के रूप में शामिल था । यह 1955 में संयुक्त राष्ट्र संघ और 1995 में यूरोपीय संघ में शामिल हुआ ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.