अचूक हथियार आर्थिक प्रतिबंध

जानते है अमेरिका ने अचूक हथियार आर्थिक प्रतिबंध को कहा और कब से लागू करता आ रहा

किसी भी देश पर दबाव बनाने के लिए अमेरिका आर्थिक प्रतिबंध को एक अचूक हथियार के रूप में इस्तेमाल करता आ रहा है । अमेरिका अब तक 20 से अधिक देशों पर किसी न किसी तरह का आर्थिक प्रतिबंध लगा चुका है । आर्थिक प्रतिबंध अमेरिका के लिए एक ऐसा हथियार है जिसका इस्तेमाल वह 200 साल से भी ज्यादा समय से करता आ रहा है ।

इन दिनों अमेरिका और ईरान के बीच तनाव अपने चरम पर है । पहले ईरान ने इराक स्थित अमेरिका के सैन्य ठिकानों पर मिसाइलें दागी तो अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को कड़ी चेतावनी दे डाली और उस पर पहले से भी ज्यादा कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाने की बात कही ।

अमेरिका के लिए किसी भी देश पर दबाव बनाने के लिए आर्थिक प्रतिबंध एक अचूक हथियार सा बन गया है और वह ज्यादातर देशों पर किसी ना किसी तरह का आर्थिक प्रतिबंध का इस्तेमाल दबाव बनाने के लिए लगाता रहता है । अमेरिका उत्तर कोरिया, सीरिया, इराक जैसे देशों को आर्थिक प्रतिबंध लगाकर व्हाइट हाउस के सामने उन्हें झुकने पर मजबूर करता है ।

अमेरिका ने आर्थिक प्रतिबंध के लिए 1950 में ऑफिस ऑफ फॉरेन एसेट कंट्रोल (ओएफएसी) का गठन किया था । इस संगठन का प्रमुख काम अमेरिका की पॉलिसी के खिलाफ काम कर रहे देशों पर प्रतिबंध लगाना और उसकी समीक्षा करना है ।

अमेरिका ने सबसे पहले आर्थिक प्रतिबंध 1812 में ब्रिटेन की जंग के दौरान किया था । अमेरिकन ब्रिटेन पर अमेरिकी नौसैनिकों को प्रताड़ित करने के आरोप में आर्थिक प्रतिबंध लगाया था । द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान नाजियों पर दबाव बनाने के लिए तथा 1950 में चीन और उत्तर कोरिया पर दबाव बनाने के लिए अमेरिका आर्थिक प्रतिबंध का इस्तेमाल किया था ।

अमेरिका ने साल 2019 में कुल 6 देशों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया हुआ है और ये देश ईरान, उत्तर कोरिया, वेनेजुएला, सीरिया, सूडान और क्यूबा हैं । अमेरिका ने ईरान पर पहली बार 1979 में आर्थिक प्रतिबंध लगाया था । ईरान के साथ परमाणु कार्यक्रम के मसलों को लेकर तनाव बढ़ गया और इसके बाद अमेरिका ने और कड़े आर्थिक प्रतिबंध ईरान पर लगा दिए ।

इन दिनों यहां से अमेरिका का कूटनीतिक संबंध नहीं है और अमेरिका ईरान को सरकार समर्थित आतंकवाद वाली सूची में डाला हुआ है । उत्तर कोरिया पर 1950 में कोरिया युद्ध के दौरान पहली बार अमेरिका ने आर्थिक प्रतिबंध लगाया था । सीरिया में युद्ध और खराब मानवाधिकार के चलते 1986 में सबसे पहले अमेरिका ने प्रतिबंध लगाए । सीरिया पर आतंकवाद को मदद करने का आरोप लगाया है साथ ही आर्थिक प्रतिबंध लगाए हुए हैं ।

अमेरिका बेलारूस, बुरंडी, इराक, लेबनान, लीबिया,माली, दक्षिण सूडान, यूक्रेन, यमन, जिम्बाब्वे जैसे देशों पर आर्थिक प्रतिबंध लगा रखा है अमेरिका ज्यादातर देशों के हिसाब से ही उन पर प्रतिबंध लगाता है ।

लेकिन इसमें सबसे कड़ा  आर्थिक प्रतिबंध होता है जिसमें  अमेरिका उन देशों के साथ व्यापार समझौते रद्द करने, अंतरराष्ट्रीय संस्था द्वारा मिलने वाले विदेशी फंडिंग और आयात निर्यात को रद्द किया जाता है साथ ही राजनयिक संबंधों को तोड़ कर देश को अकेला करने की कोशिश की जाती है ।

अमेरिका ने इराक के साथ 2015 में हुए  परमाणु डील के बाद ईरान पर प्रतिबंध हटा लिए थे जिसके चलते उसकी यह डीपी में साल 2016 में 12. 30 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली लेकिन साल 2018 में अमेरिका ने ईरान पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया जिसके चलते जीडीपी तीन से नीचे चली गई साथ ही तेल के उत्पादन में भी गिरावट दलहन को मिली ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.