अयातुल्लाह अली खामनेई के खिलाफ हो रहा प्रदर्शन

ईरान में सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अली खामनेई के खिलाफ हो रहा प्रदर्शन

ईरान ने यूक्रेन के विमान हादसे की जिम्मेदारी ली है और इसी के साथ ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अली खामनेई के खिलाफ यान में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया । सड़कों पर उतरें हजारों ईरानी नागरिक प्रदर्शन करके ईरान के सर्वोच्च नेता से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं । इस प्रदर्शन के संबंध में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि वह हालात पर नजर बनाए हुए हैं और अब दूसरा नरसंहार नहीं होना चाहिए ।

दरअसल ईरान ने स्वीकार किया था कि उसकी गलती से यूक्रेन के यात्री विमान को मार गिराया था जिसमें 176 लोग सवार थे और सभी की मौत हो गई और इसी के साथ अमेरिका और ईरान के बीच तनाव थोड़ा सा जहां कम होना शुरू हुआ था । ईरान के द्वारा उक्रेन के यात्री विमान को गलती से गिराए जाने की बात स्वीकार कर लेने के साथ ही ईरान पर अंतरराष्ट्रीय स्तर के साथ-साथ अंदरूनी दबाव बनने लगा ।

यूक्रेन के यात्री विमान में सवार ज्यादातर यात्री ईरान से थे इसलिए लोग सड़कों पर अपने सर्वोच्च नेता के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं । ईरान की राजधानी तेहरान में अमेरिका दूतावास के बाहर प्रदर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुयर और अमीर कबीर यूनिवर्सिटी के बाहर भी छात्रों ने प्रदर्शन किए ।

लोग हाथों में पोस्टर लेकर अपने सर्वोच्च नेता के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे और इस्तीफे की मांग के साथ देश छोड़ने के नारे लगा रहे थे । इसके पहले अमेरिका द्वारा ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद लाखों लोग ईरान के सड़कों पर उतरे थे और अमेरिका के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था ।

ईरान ने जो विमान गलती से मार गिराया उसमें 82 लोग ईरान से तथा 63 कनाडा से थे, यूक्रेन के 11 रन के 10 अफगानिस्तान के चार और जर्मनी और ब्रिटेन के तीन-तीन नागरिक थे । इस संदर्भ में ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि “यह एक मानवीय भूल थी जिसकी वजह से मिसाइल को गलत दिशा में दाग दिया गया और विमान हादसे का शिकार हो गया” ।

तो वहीं ईरान के विदेश मंत्री जवाद जाफरी ने ट्विटर करके लिखा “दुखी करने वाला दिन” । आर्मी की शुरुआती जांच में सामने आया कि अमेरिकी हमले के वक्त मानवीय भूल की वजह से हादसा हुआ इस पर हमें पछतावा है हम खेद व्यक्त करते हुए पीड़ितो के परिवार से माफी मांगते हैं” ।

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि वे ईरान में हो रहे प्रदर्शन पर नजर बनाए हुए हैं और उन्होंने जनसंहार के खिलाफ ईरान को चेतावनी दी । असल में ईरान के लोग सड़क पर उस वक्त उतर आए जब ईरान ने स्वीकार किया कि यूक्रेन का विमान उसने गलती से गिराया है ।

इस हादसे में यात्री विमान में सवार सभी 176 लोग मारे गए । दरअसल ईरान यूक्रेन के यात्री विमान को अमेरिकी लड़ाकू विमान समझ के मिसाइल से गिरा दिया उसके बाद गलती का एहसास होने पर ईरान ने अपनी गलती मान ली थी ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.