नागरिकता संशोधन बिल पर जामिया मिलिया के विरोध प्रदर्शन पर बॉलीवुड की प्रतिक्रिया

नागरिकता संशोधन बिल पर जामिया मिलिया के विरोध प्रदर्शन पर बॉलीवुड की प्रतिक्रिया

इस वक्त देश भर में नागरिकता संशोधन बिल का मुद्दा छाया हुआ है । देशभर में इस बात को लेकर मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली है जहां कुछ लोग नागरिकता संशोधन बिल का विरोध कर रहे हैं तो कुछ लोग इसका समर्थन भी कर रहे हैं । इस संबंध में देश की राजधानी दिल्ली में स्थित जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों का विरोध सुर्खियों में छाया हुआ है ।

इस संबंध में बॉलीवुड ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है । फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार देश के संबंध में जुड़े मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए जाने जाते हैं एक बार फिर से अक्षय कुमार चर्चा में हैं । उन्होंने जाने अनजाने में जामिया मिलिया स्टूडेंट से संबंधित एक ट्वीट को लाइक किया और उसके बाद फिर उसे अनलाइक कर दिया और इस पर अपनी टिप्पणी दी ।

अक्षय कुमार ने ट्वीट किया “जामिया मिलिया स्टूडेंट के ट्वीट को लाइक करने के संबंध में यह भूलवश हुआ था । मैं स्क्रोल कर रहा था और तभी यह भूलवश हो गया होगा और जब मुझे एहसास हुआ मैंने फौरन अनलाइक कर दिया क्योंकि मैं किसी भी सूरत में ऐसे काम को सपोर्ट नहीं करता । जमिया मिलिया के स्टूडेंट्स नागरिकता संशोधन बिल के संबंध में विरोध प्रदर्शन कर रहे थे और पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज किया ।

जहां कुछ लोग विद्यार्थियों पर होने वाली पुलिस को बर्ताव को गलत कह रहे हैं तो कुछ ऐसे भी लोग हैं जो उनके तरीके की निंदा भी कर रहे हैं । इस संबंध में ताप्सी पन्नू ने ट्वीट करते हुए लिखा ‘पता नहीं यह शुरुआत है या अंत जो भी है यह तो पक्का है कि नए नियम लिखे जा रहे हैं जो इसमें फिट नहीं होते, इसका अंजाम देखा जाएगा ।

इसके साथ ही ताप्सी पन्नू ने एक वीडियो को शेयर किया और लिखा ‘यह दिल दहला देने वाला है यह नुकसान पलटा नहीं जा सकता मैं सिर्फ लाइफ और प्रॉपर्टी की बात नहीं कर रही’ । वही कोंकणा सेन ने जामिया के स्टूडेंट का समर्थन किया और पुलिस के बर्ताव की निंदा की और कहा हम विद्यार्थियों के साथ हैं । फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि “जो आवाज़ कुछ कर सकती हैं उन्हें ही दबाया जा रहा है” ।

वही राइटर और फिल्म निर्माता चेतन भगत ने भी ट्वीट करते हुए विचार व्यक्त किया और लोगों के बीच बढ़ते वैचारिक दूरियां पर चिंता जाहिर की । वही कोएना मित्रा ने जलती हुई बस की एक फोटो शेयर करके जामिया के स्टूडेंट को संबोधित करके लिखा ‘प्रिय जामिया स्टूडेंट यह विरोध नहीं आतंकी हमले हैं ! अब सारे व्यक्ति दोषी बन गए’ कोएना मित्र का कहना है कि सार्वजनिक संपत्ति को जलाना स्टूडेंट का काम नहीं है !

मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से जामिया मिलिया के स्टूडेंट नागरिकता संशोधन बिल का विरोध कर रहे थे और यह विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया और पुलिस से झड़पे हुई  जिसमें कई सारे स्टूडेंट घायल हो गए जमिया के वाइस चांसलर ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस बिना इजाजत के जामिया के कैंपस में घुस गई यहां तक कि छात्रों के हॉस्टलों में भी घुस गई और तोड़फोड़ की । जामिया मिलिया विश्वविद्यालय 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.