22 मार्च जतना कर्फ्यू : लोग रहे घरों में कैद और 5 बजे 5 मिनट तक लोगों ने ताली, घंटी और शंख बजाई

22 मार्च जतना कर्फ्यू : लोग रहे घरों में कैद और 5 बजे 5 मिनट तक लोगों ने ताली, घंटी और शंख बजाई

कोरोना वायरस के मामले जिस तेजी से भारत में बढ़ रहे हैं उससे भारत के प्रधानमंत्री समेत हर कोई चिंतित नजर आ रहा है । कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की थी जिसका लोगों ने समर्थन किया और 7:00 से 9:00 तक अपने घरों में रहे, सड़कों पर जहां भीड़ नजर आती थी 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के चलते सन्नाटा पसरा रहा ।

शाम को जैसे ही 5 बजे लोगों ने अपनी बालकनी और छतों पर चढ़कर घंटी, थाली और ताली बजाई, इसमें बॉलीवुड के सेलिब्रेलियों ने भी सहयोग किया और अपने घरों पर ताली और घंटी बजाई । अमिताभ बच्चन ने अपने परिवार के साथ 5 बजे छत पर पहुंचकर ताली बजा बजाई ।

इस दौरान अमिताभ बच्चन के साथ उनके बेटे अभिषेक बच्चन, बहू ऐश्वर्या राय बच्चन, उनकी पोती आराध्या बेटी श्वेता नंदा और जया बच्चन को देखा गया । वहीं रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण अपने अंदाज में इसका समर्थन किया और अपनी बालकनी में ताली बजाई । करोना वायरस से लड़ने के लिए उसको रोकने के लिए काम करने वाले लोगों को सलाम करने के लिए लोगों ने ताली और घंटियां बजा का उनका उत्साह बढ़ाया ।

विवेक ओबरॉय और उनकी पत्नी तथा बच्चों ने भी अपने घर की बालकनी में इस दौरान तालियां बजाई और घंटी बजाई । हरियाणा की मशहूर डांसर सपना चौधरी ने भी इस मौके पर ताली बजाई ।

हालांकि इस मौके पर सपना चौधरी थोड़ा भावुक भी हो गई थी । बता दें कि भारत की जनता कर्फ्यू का जिक्र भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हो रहा है । अल जजीरा ने अपनी हेड लाइन में कहा कि जनता कर्फ्यू के दौरान शहर वीरान नजर आए और देश की जनता ने अपने प्रधानमंत्री की अपील का समर्थन किया और घरों में रहे सड़कों पर नजर नहीं आए ।

मुंबई जैसे महानगरों की सड़कें सुनसान नजर आई । ब्रिटेन का अखबार द गार्जियन ने अपनी हेडलाइन में लिखा कि प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर लाखों भारतीय अपने घरों में रहे, जनता कर्फ्यू किसी पर जबरदस्ती नहीं बल्कि स्वैच्छिक था और लोगों पर बाहर आने पर किसी भी प्रकार का प्रतिबंध नहीं था लेकिन प्रधानमंत्री की अपील का असर रहा की सड़कों से भीड़ गायब रही ।

बीबीसी अपने हेड लाइन में लिखा कि एक अरब से ज्यादा लोग रविवार को 14 घंटे तक जनता कर्फ्यू का पालन किया । लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर कोरोना वायरस लाने के लिए अपना सहयोग दिया ।

अगर जनता सहयोग करे और सावधानी बरतें, साफ सफाई का ध्यान दे भीड़ न होने से एक दुसरेसे एक निश्चित दूरी बना कर रहे तो कोरोना वायरस जो कि महामारी बन गया है इसे फैलने से रोका जा सकता है । भारत के विभिन्न शहरों को जहाँ कोरोना का संक्रमण का संदेह हुआ है उसे लॉक डाउन कर दिया गया है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.