गुर्दे की पथरी निकालने के इन आसन घरेलू नुस्खे को जाने

गुर्दे की पथरी निकालने के इन आसान घरेलू नुस्खे को जाने

गुर्दे की पथरी को ही किडनी स्टोन के नाम से भी जाना जाता है । यह वैसे तो देखने में बहुत छोटी होती है लेकिन जिस इंसान को होते हैं उसे बहुत ज्यादा तकलीफ और दर्द का सामना करना पड़ता है । जब गुर्दे में पथरी बन जाती है तो इससे पेशाब के दौरान भी दर्द का सामना करना पड़ता है ।

कहा जाता है कि महिलाओं को प्रसव के दौरान जितना दर्द होता है उससे भी ज्यादा दर्द किडनी स्टोन में होता है । दरअसल हमारे शरीर में जब कैल्शियम एक जगह इकट्ठा हो जाते हैं और वे पेशाब के जरिए बाहर नहीं निकल पाते हैं तब वो पथरी बन जाते हैं ।

शरीर में पथरी होने की वजह अनियमित खानपान के साथ अनुवांशिक कारण भी हो सकते हैं । गुर्दे में पथरी होने से काफी ज्यादा तकलीफ और दर्द का सामना करना पड़ता है । आज भी गुर्दे की पथरी का इलाज एलोपैथी को ही माना जाता है जिसमें ऑपरेशन के माध्यम से इसे निकाल दिया जाता है । लेकिन इसके और भी तरीके हैं जिसे अपनाकर बिना सर्जरी के ही गुर्दे से पथरी को निकाला जा सकता है ।

तो चलिए जानते हैं कुछ आसान घरेलू आयुर्वेदिक उपायों के बारे में जिससे गुर्दे की पथरी से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है ।वैसे तो गुर्दे में पथरी महिलाओं की तुलना में पुरुषों में होना एक आम बात है और जिन लोगों को एक बार गुर्दे की पथरी हो गई रहती है तो उन्हें दोबारा से होने के संभावना बनी रहती है ।

डॉक्टर के अनुसार गुर्दे में पथरी तब बनती है जब कैल्शियम ऑक्सलेट और ऐसे   ही पदार्थ गुर्दे में एक जमा होने लग जाते हैं । और यही धीर धीरे बड़े होने लगते हैं तो स्टोन यानी पथरी बन जाते हैं । ज्यादातर गुर्दे की पथरी में 80 से 85 फीसदी हिस्सा कैल्सियम का होता है ।

कुछ घरेलू उपायों के जरिये गुर्दे की पथरी को बढ़ने से रोका जा सकता है साथ ही इन्हें आसानी से बाहर भी निकाला जा सकता है । 

खूब पानी पीना नेशनल किडनी फाउंडेशन 2015 के एक विश्लेषण में पाया कि जो लोग प्रतिदिन दो से ढाई लीटर तक पेशाब करते हैं । उन लोगों में किडनी स्टोन होने की संभावना लगभग आधी हो जाती हैं । ज्यादा पेशाब हो इसके लिए जरूरी होता है कि ज्यादा पात्र में पानी भी पिया जाए । 2 से 3 लीटर तक रोजाना पानी पीने से गुर्दे में पथरी होने की संभावना कम हो जाती है तथा यह धीरे-धीरे निकल भी जाती है ।

हाई ऑक्सलेट खाद्य पदार्थ से दूरी पालक, चुकंदर और बादाम सेहत के लिए फायदेमंद होते तो हैं लेकिन इनका ज्यादा इस्तेमाल से ये आपके शरीर के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है क्योंकि यह शरीर में ऑक्सीलेट का स्तर बढ़ाने का काम करने लगते हैं । लेकिन अगर इनका इस्तेमाल एक सीमित मात्रा में किया जाए और चॉकलेट और बेरी आदि का सेवन भी किया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है और पथरी नहीं बनती है ।

नींबू का सेवन नींबू में सिट्रिक एसिड पाया जाता है । यह सिट्रिक एसिड कैल्शियम को कम करने का काम करता है इससे स्टोन नहीं बन पाता है । एक शोध से पता चला है कि रोजाना अगर आधा कप नींबू के रस का सेवन किया जाए तब इससे शरीर में सिट्रिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है और इससे स्टोन निकल जाती है और पथरी होने की संभावना को बहोत हद तक कम किया जा सकता है।

सोडियम ज्यादा मात्रा ले खाने में सोडियम डाइट लेने से गुर्दे की पथरी होने की संभावना रहती है क्योंकि इससे यूरिन में कैल्शियम की मात्रा बढ़ने लग जाती है । हमेशा सोडियम को एक सीमित मात्रा में सेवन करना चाहिए ।

एनिमल प्रोटीन का कम इस्तेमाल – मांस, अंडा और सीफूड ऐसे पदार्थ है जिसमें अधिक मात्रा में एनिमल प्रोटीन पाया जाता है । इनका सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या बढ़ जाती है । इसलिए अपने डाइट में इन पदार्थों का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.