जानिए लॉक डाउन के बारे में, और किन चीजों को है इसमें छूट

जानिए लॉक डाउन के बारे में, और किन चीजों को है इसमें छूट

लॉक डाउन अभी चर्चा का विषय बना हुआ है । भारत में बढ़ते कोरोना वायरस के मामले के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले 22 मार्च को जनता से जनता कर्फ्यू की अपील की थी और लोगों को सुबह 7:00 बजे से रात 9:00 बजे तक अपने घरों में रहने के लिए कहा था । यहां तक कि सारी परिवहन सुविधाए भी बंद कर दी गई थी ।

उसके बाद रेलवे ने बड़ा फैसला लेते हुए 31 मार्च तक के लिए सभी ट्रेनों को निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया लेकिन मालगाड़ियों का संचालन इस दौरान जारी रहेगा । भारत में करोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 397 तक पहुंच गई है । कोरोना वायरस से जंग जीतने के लिए कई राज्यों और जिलों में लॉक डाउन लागू कर दिया गया है ।

मालूम हो कि उत्तराखंड, पंजाब और राजस्थान ने अपने यहाँ पूरी तरीके से लॉक कर दिया है साथ ही भारत के 85 जिलों में लॉक डाउन घोषित कर दिया गया है । लॉक डाउन करने वाले राज्य में दिल्ली भी शामिल हो गया ही  । उन जिलों में जिनके यहां कोरोना वायरस के मामले सामने आए थे लॉक डाउन कर दिया गया है ।

लॉक डाउन की स्थिति में इमरजेंसी सेवाओं को छोड़ दिया जाए तो बाकी सभी सेवाओं पर रोक लगाई गई है । दिल्ली ने भी अपने यहां 23 मार्च से इसकी घोषणा कर दी है । अगर बात उत्तर प्रदेश की करे तो  उत्तर प्रदेश में नोएडा, गाजियाबाद, प्रयागराज, कानपुर, सहारनपुर, वाराणसी, लखनऊ, मुरादाबाद जैसे 15 जिलों में लॉक डाउन किया है ।

यह एक ऐसी स्थित होती है जिसे सरकारी तौर से लागू किया जाता है इसमें लोगों को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी जाती है लेकिन आपात स्थिति में दवा और बेहद आवश्यक चीजों के लिए लोगों को बाहर निकालने की अनुमति होती है । अगर भारत में इसके इतिहास की बात करें तो राजस्थान एकमात्र ऐसा राज्य जहां पर कोरोना वायरस के चलते पहली बार लॉक डाउन किया गया है ।

इसके पहले राजस्थान में कभी भी लॉक डाउन नहीं किया गया था । दुनिया में पहली बार लॉक डाउन उस समय किया गया था जब अमेरिका पर 9/11 का हमला हुआ था ।  इसका सीधा अर्थ तालाबंदी होता है । इस दौरान सभी शिक्षण संस्थान और सेवाओं को पूरी तरीके से बंद कर दिया जाता है   वहीं अगर लॉक डाउन का अर्थ सामाजिक परिवेश में देखे तो इसका मतलब होता है कि अनावश्यक रूप से सड़कों पर न निकालना और सामाजिक न होना ।

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते चीन ने अपने है सबसे लॉक डाउन किया था उसके बाद डेनमार्क, फ्रांस, आयरलैंड, न्यूजीलैंड, स्पेन जैसे देशों में भी लॉक डाउन कर दिया गया है । अमेरिका ने भी अपने लोगों से अपील की है कि वो अभी अपने घरों में रहे और बिना वजह सड़कों पर ना निकले । दुनिया भर की सरकारें अपने यहाँ किसी भी तरह की परेशानी जानता पर ना हो इसके लिए आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित कर रही है । लॉक डाउन में सभी दुकानों, मॉल, रेस्टोरेंट और परिवहन सेवाओं को पूरी तरीके से रोक दिया जाता है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *