मुँह से दुर्गंध आने का कारण हो सकता है पायरिया, जाने पायरिया के घरेलू उपचार के बारे में

मुँह से दुर्गंध आने का कारण हो सकता है पायरिया, जाने पायरिया के घरेलू उपचार के बारे में

मुँह से दुर्गंध आने का कारण हो सकता है पायरिया, जाने पायरिया के घरेलू उपचार के बारे में

दांतो के साथ-साथ मसूड़ों का स्वस्थ रहना बेहद जरूरी होता है क्योंकि अगर मुंह की सफाई सही से नहीं होती है तो शरीर में कई सारी गंभीर बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है । अक्सर देखा जाता है कि बहुत से लोगों के मुंह से दुर्गंध आती है जिसे लोग बस यूं ही नजरअंदाज कर देते हैं । कई बार तो ऐसा भी होता है कि मसूड़ों में सूजन होती है या फिर कभी कभी उनसे खून भी ब्रश करने के दौरान आता है । लेकिन हम उसके प्रति बहुत ज्यादा सचेत नहीं होते हैं ।

अगर आपके मुंह से भी दुर्गंध आने की समस्या है या फिर आप के मसूड़े में सूजन है या ब्रश करते वक्त खून आ रहा है तो आपको सतर्क हो जाने की जरूरत है क्योंकि हो सकता है आपको पायरिया की शिकायत हो । दरअसल पायरिया दांत और मसूड़े से जुड़ी हुई एक समस्या है जिसमें मुंह से दुर्गंध आना, मसूड़ों से खून आना, दांत और मसूड़ों में दर्द रहना आदि जैसी समस्याएं देखने को मिलती है ।

इन समस्याओं से बचने के लिए हमें अपने दांतों और मसूड़ों की विशेष देखभाल करनी चाहिए । रोज सही से ब्रश करने के बाद भी अक्सर देखा जाता है कि लोगों को दांतों और मसूड़ों से जुड़ी समस्या देखने को मिल जाती है । यह एक ऐसी समस्या है जिससे ज्यादातर लोग पीड़ित हैं ।

इसमें मसूड़ों की अंदरूनी परत और हड्डी और मसूड़ों के बीच में दूरी आ जाती है और इन हिस्सों में बैक्टीरिया और संक्रमण पैदा होते हैं और धीरे-धीरे इसमें सड़न पैदा हो जाती है । नतीजा यह होता है कि मुंह से दुर्गंध आने लगती है, दातों में दर्द रहने लगता है और ब्रश करने के दौरान खून भी निकलता है ।

पायरिया का कारण : पायरिया होने की वजह सही खान-पान न होना और दांतों की सही तरह से देखभाल ना करना है । दांतो को बार-बार कुरेदना, और दातों के बीच में खाने के फ़स जाने की वजह से और उसकी सही ढंग से सफाई ना होने की वजह से  बाद में  यह पायरिया के रूप में सामने आता है ।

पायरिया के लक्षण :- पायरिया का पता तुरंत नहीं लग पाता है । पायरिया में कई बार दांतों में दर्द की समस्या देखी जाती है या फिर धीरे-धीरे दांतों से खून आने तथा बदबू आने की समस्या आती है । प्रमुख रुप से पायरिया के लक्षण – मसूड़ों में सूजन होना, मुंह से दुर्गंध आना, दांत और मसूड़ों में दर्द रहना, खून के साथ मवाद निकलना आदि ।

कैसे बचें पायरिया से: – पायरिया से बचने के लिए मसूड़ों कि रोज मालिश करके इस समस्या को कम किया जा सकता है क्योंकि मालिश करने से मसूड़ों में मौजूद बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं और मसूड़ों की मालिश को सदियों से सबसे असरदार तरीका माना जाता है । मसूड़ों की मालिश करने के लिए तिल के तेल, सरसों के तेल या फिर नालियों के तेल का प्रयोग कर सकते हैं । तेल से मालिश के बाद हल्का गुनगुना पानी से कुल्ला करना चाहिए । ऐसा करने से पायरिया की समस्या कुछ ही दिन में अपने आप समाप्त हो जाती है

हल्दी :- हल्दी सेहत के लिए तो फायदेमंद होता ही है लेकिन पायरिया से निजात दिलाने में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है । हल्दी से मसूड़ों की सूजन कम की जा सकती है साथ ही मसूड़ों में मौजूद बैक्टीरिया को भी नष्ट किया जा सकता है  पायडियस से निजात पाने के लिए हल्दी को एक दंत मंजन की तरह से इस्तेमाल करने से कुछ ही दिन बाद मसूड़ों में दर्द और खून निकलने की समस्या समाप्त हो जाती है ।

नमक :- पायरिया से निजात पाने में नमक भी काफी फायदेमंद होता है । नमक से मसूड़े के दर्द, सूजन और खून निकलने की समस्या को खत्म किया जा सकता है । गुनगुने पानी में थोड़ा सा नमक डाल के दिन में दो से तीन बार कुल्ला करने से दांत का दर्द और मसूड़ों से खून आने की समस्या धीरे धीरे काम हो जाएगी।