कुछ लोगो को ज्यादा ठंड लगती है लेकिन ये किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है

चाहे वह ठंडी का मौसम हो या फिर गर्मी का, लेकिन जब ऐसी जरूरत से ज्यादा तेज होती है तो ठंड लगना एक आम बात है । लेकिन देखा जाता है कि कुछ लोगों को कुछ ज्यादा ही ठंड लगती है । यदि आपको भी हर वक्त ठंड लगती है तो हो सकता है कुछ चीजें सही ना हो । जिस तरीके से इंसान की हाथ की पांचों उंगलियां बराबर नहीं होती है उसी प्रकार हर इंसान ठंड के प्रति अलग-अलग प्रतिक्रिया देता है ।

कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें कम तापमान में घूमने फिरने में मजा आता है तो कुछ लोग ऐसे होते हैं जो तापमान में थोड़ी सी कमी हो जाने से स्वेटर और कोट से खुद को ला देते हैं और उन्हें ज्यादा ठंड लगती है । इसकी वजह यह है कि हर व्यक्ति का मोटबेलिस्म अलग अलग होता है । लेकिन ऐसा हर बार नहीं होता है । यह कभी कभी बीमार होने का भी संकेत देता है । यदि आपको भी अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा ठंड लगती है तो इसके पीछे कुछ कारण हो सकते हैं । आइए जानते हैं क्यों लगती है ज्यादा ठंड –

एनीमिया

एनीमिया भी हमेशा ठंड लगने के पीछे एक बड़ा कारण है । एनीमिया की स्थिति में शरीर में स्वस्थ रेड ब्लड सेल्स की कमी हो जाती है । रेड ब्लड सेल्स शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने के का काम करती हैं और यदि किसी वजह से शरीर में पर्याप्त मात्रा में रेड ब्लड सेल्स का उत्पादन नहीं हो पाता है और खून की कमी हो जाती है तो उस इंसान को अन्य दूसरे लोगों की तुलना में ज्यादा ठंड लगती है ।

कोई भी व्यक्ति एनिमिया का शिकार तब होता है जब उसके शरीर में रेड ब्लड सेल्स को बनाने के लिए पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं मिलता है या फिर वे जल्दी नष्ट हो जाते हैं । रेड ब्लड सेल्स तब भी नष्ट हो जाती है जब पर्याप्त रूप से सही डाइट नहीं ली जाती है या फिर इन्फ्लेमेटरी बॉवेल डिजीज या फिर खून की कमी या फिर गर्भावस्था के कारण भी यह एक वजह हो सकती है । ऐसे में शरीर के अंगों में खून का संचार सही ढंग से नहीं हो पाता है और फैट की कम मात्रा में होता है और ज्यादा ठंड महसूस होती है ।

हाइपो थायराइड

हाइपर थायराइड उस स्थिति को कहा जाता है जब शरीर पर्याप्त मात्रा में थायराइड हार्मोन का उत्पादन नहीं कर पाता है । मालूम हो थायराइड हारमोंस हार्मोन मोटापा और वजन को नियंत्रित करने का काम करते हैं । थायराइड हार्मोन की कमी की वजह से शरीर के अंदरूनी तापमान को नियंत्रित रखना मुश्किल हो जाता है और ऐसे में ठंड ज्यादा महसूस होती है । हाइपो थायराइड के अन्य लक्षणों में भूलने की बीमारी, शुष्क त्वचा, थकान, वजन का बढ़ना और अवसाद को जिम्मेदार माना जाता है ।

ज्यादा नींद आना

नींद भी शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है । नींद की कमी सर्कडियन रिदम को बाधित कर देती है । जिसकी वजह से ज्यादा ठंड महसूस होती है । असल मे हमारा शरीर 24 घंटे एक चक्र का पालन करता है और जब इसमें बदलाव होता है तो इसकी सामान्य प्रक्रिया बिगड़ जाती है और यदि हर वक्त ठंड लग रही है तो इसके पीछे एक वजह सही ढंग से नींद ना लेना भी हो सकता है ।

हाल में वजन घटाना

आजकल लोग मोटापे के चलते अपना वजन घटाने के लिए बहुत सारे प्रयोग करते रहते हैं । यदि हाल में ही वजन घटाया गया हो तो इससे फैट कम हो जाता है और इस वजह से भी ठंड महसूस होती है क्योंकि शरीर अपने अंदरूनी तापमान को बनाए रखने के लिए फैट का ही इस्तेमाल करता है जिसके कारण गर्माहट शरीर में बनी रहती है ।

हालांकि जो लोग लो कैलोरी वाले वाले डाइट ले रहे होते है तो उनका मोटबेलिस्म भी धीमा हो जाता है और फिर शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में कठिनाई होती है । इटिंग डिसऑर्डर से जूझ रहे लोगों को भी ज्यादा ठंड लगने की समस्या देखी जाती है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.