तनाव का असर दिमाग के साथ-साथ शरीर पर भी पड़ता है

तनाव का असर दिमाग के साथ-साथ शरीर पर भी पड़ता है : होती हैं कई शारीरिक समस्याएं

हम सब जानते हैं कि तनाव लेना हमारे सेहत के लिए हानिकारक है । लेकिन समय रहते यदि इसको संभाला नही जाता है तो यह हमारी सेहत के साथ हमारी तरक्की को भी रोकता है साथ ही तनाव की वजह से कई बीमारियां भी हो जाती हैं ।

काम करना हर इंसान की जरूरत है क्योंकि काम करने से शारीरिक और मानसिक विकास होता है लेकिन काम की वजह से तनाव होता जो हमारी सेहत पर बुरा असर डालता है और कई मानसिक बीमारियों के साथ शारीरिक बीमारियों को भी बुलाता है । तनाव हमारे काम करने की क्षमता को भी कम कर देता है इसके अलावा तनाव की वजह से कई शरीर बीमारियां भी बढ़ जाती हैं ।

आइए नजर डालते हैं तनाव कैसे करता है शरीर पर असर :- 

वजन का घटना-बढ़ना

न्यूयॉर्क के आईकैन  स्कूल ऑफ मेडिसिन में  क्लीनिकल इंस्ट्रक्टर के मुताबिक तनाव की वजह से शरीर के कॉर्टिसोल हार्मोन सिले होते हैं जो शरीर के फैट प्रोटीन और कॉप्स के मोटबेलिज्म करने में बदलाव करते हैं । इसके अलावा तनाव में लोगों की लाइफ स्टाइल में भी बदलाव आने लगता है जिस वजह से वह कई सारे कामों में पीछे हटते हैं और कभी ज्यादा या कम खाने लगते हैं और यही वजह होती है कि तनाव की वजह से वजन घटने- बढ़ने लगता है ।

सर में दर्द रहना

यदि किसी को कभी सर में दर्द नहीं होता या फिर सर में भारीपन नहीं लगता लेकिन अचानक तनाव की वजह से सर भारी लगे और दर्द होने लगे तो यह तनाव का असर होता है । तनाव की वजह से शरीर में कोई केमिकल रिलीज होते हैं जो दिमाग के ब्लड वेसल को बदलने की कोशिश करते हैं और इस वजह से सर में दर्द होने लगता है । तनाव की वजह से माइग्रेन जैसी बीमारी का सामना भी करना पड़ सकता है ।

पेट में दर्द

तनाव का सीधा असर पाचन क्रिया पर पड़ता है । इससे पेट में गैस बनने लगती है और पेट साफ होने के बाद भी पेट साफ नहीं लगता और भरा भरा सा लगता है और पेट में हल्का दर्द लगातार बना रहता है । अगर पेट में हल्का दर्द अच्छा खानपान के बाद भी हो रहा है तो इस समस्या का जिम्मेदार तनाव है। तनाव की वजह से आँते सही ढंग से नहीं कर पाती और इस वजह से खाना ठीक से पच नहीं पाता है ।

सर्दी होना

तनाव का असर इम्यून सिस्टम पर भी पड़ता है । तनाव इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है और इसकी वजह से हम जल्दी-जल्दी बीमार पड़ने लगते हैं । यानी कि तनाव की वजह से शरीर में बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है ।

दिमाग काम करना बंद कर देता है

तनाव का असर सबसे ज्यादा दिमाग पर पड़ता है और तनाव के कारण दिमाग बीमार हो जाता है,जिसकी वजह से किसी भी काम में कंसंट्रेशन नहीं बन पाता क्योंकि कंसंट्रेशन का काम दिमाग का होता है और वह सही ढंग से काम नहीं कर पाता है. ज्यादा दिन तक तनाव में रहने से भूलने की समस्या भी हो जाती है और लोग डिप्रेशन जैसी बीमारियों की चपेट में भी आ जाते हैं ।

हमेशा कोशिश यह करनी चाहिए कि तनाव से बचें क्योंकि तनाव ना सिर्फ मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है बल्कि यह शारीरिक स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है और इसका बुरा असर कैरियर और तरक्की पर भी पड़ता है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.