भू राजनीतिक तनाव सदी के उच्चतम स्तर पर

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने कहा भू राजनीतिक तनाव सदी के उच्चतम स्तर पर

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने मध्य पूर्व के हालातों पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि इस तरह के तनाव से उपजा भू राजनीतिक टकराव सदी के उच्चतम स्तर पर है । संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस का मानना है कि मध्य पूर्व में राष्ट्र अप्रत्याशित फैसले ले रहे हैं जिससे युद्ध का खतरा पैदा हो गया है ।

गुटेरेस ने कहा कि हमारी दुनिया में नए साल की शुरुआत काफी उथल-पुथल के साथ हुई है और आज हम खतरनाक दौर में जी रहे हैं । हमारा ग्रह पृथ्वी आग पर बैठा नजर आ रहा है । संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सोमवार को संवाददाताओं से बातचीत के दौरान अमेरिका और ईरान के बीच तनाव पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की ।

गुटेरेस ने कहा कि हालिया भू राजनीतिक तनाव अपने चरम पर पहुंच गया है और अशांति बढ़ रही है । उन्होंने आगे कहा कि वैश्विक स्तर पर तनाव का सिलसिला विभिन्न देशों के अप्रत्याशित नतीजों के साथ अप्रत्याशित फैसलों की वेज से खतरनाक रास्ते पर जा रहा है जो दुनिया के लिए एक बड़ा खतरा है ।

क्षेत्रीय अखंडता और इराक की संप्रभुता के बारे में बात करने की जरूरत है । गुटेरेस का मानना है कि बड़े संघर्षों को रोकने की कोशिश करनी होगी ।

व्यापार और तकनीकी के क्षेत्र में  इस टकराव से दुनिया के बाजार टूट रहे हैं  और मौजूदा वक्त में धरती आग के गोले पर नजर आ रही है । दुनिया इस समय जलवायु संकट का भी सामना कर रही है और ऐसे में दुनिया के कई हिस्सों में लोगों में गुस्सा देखा जा रहा है जिसका असर विकास पर पड़ रहा है और  लोगों के बीच असमानता की खाई और ज्यादा बढ़ती जा रही है  ।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने कहा कि अफ़्रीका में आतंकवाद और सामाजिक अशांति बढ़ रही है और चरमपंथ, राष्ट्रवाद और कट्टरता में भी तेजी देखने को मिल रही है ।

गुटेरेस ने अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव को एक संकट के रूप में बताया और कहा कि मैं दुनिया भर के प्रमुख अधिकारियों से निरंतर संपर्क में हूं । गुटेरेस ने दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि मैं अमेरिका और ईरान दोनों को अत्यधिक संयम बरतने की गुजारिश करता हूं ।

मालूम हो कि अमेरिका ने ईरान के कमांडर कासिम सुलेमानी की  बगदाद में एयर स्टाइल करके हत्या कर दी और इस वजह से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है और ईरान अमेरिका से इसका बदला लेना चाहता है  ।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चेतावनी  देते हुए कहा कि ईरान की धमकी ना दें । इसके पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को धमकी देते हुए कहा था कि अमेरिका ने ईरान के 52 ठिकानों को पहचाना है अगर अमेरिका के खिलाफ इरान कोई भी कार्यवाही करता है तो अमेरिका ईरान के ठिकानों को बर्बाद कर देगा ।

वही जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद ईरान ने  2015 में शक्तिशाली देशों के साथ हुए परमाणु समझौते से बाहर आने का ऐलान कर दिया है । ऐसे में जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन के नेताओं ने ईरान से  कहा है कि वह परमाणु करार के खिलाफ जाने के कदम का विचार त्याग दें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.