सऊदी अरब में पीने लायक पानी कहां से आता है

क्या आप जानते हैं सऊदी अरब में पीने लायक पानी कहां से आता है ?

सऊदी अरब एक रेतीली धरती वाला उष्ण कटिबंधीय मरुस्थलीय देश है, जहां पर तेल सबसे ज्यादा मात्रा में होता है और तेल की वजह से यह देश आज तक अमीर बना है । सऊदी अरब में तेल के बड़े बड़े भंडार हैं लेकिन यहां पर का पानी की बेहद कमी है  । यह भी कह सकते हैं कि यहां पर पानी पीने लायक है ही नहीं क्योंकि सऊदी अरब में अब न ही कोई झील है और न ही नदी ।

बता दें कि सऊदी अरब में एक भी झील या एक भी नदी नहीं है । यहां पर जो भी पानी के कुए हैं उसमें पानी नहीं है और वे सूखे हुए हैं । यह एक ऐसा देश है जहां पर सोना और तेल काफी मात्रा में है लेकिन पीने लायक पानी नहीं है । ऐसे में सबके मन में यह सवाल आता है कि आखिर सऊदी अरब के लोग पीने के लिये पानी लाते कहाँ से हैं ?

चलिए जानते हैं सऊदी अरब में पीने लायक पानी कहां से आता है : –

मालूम हो कि सऊदी अरब की मात्र एक फीसदी जमीन ही खेती करने के लायक है जहां पर कुछ कम पानी वाली सब्जियां उगाई जाती हैं लेकिन यहां पर धान और गेहूं जैसी फसल नहीं उगाई जाती है क्योंकि इसमें काफी ज्यादा पानी की जरूरत पड़ती है । लेकिन एक बार यहां पर गेहूं की खेती करने की शुरुआत की गई थी लेकिन सऊदी अरब में पानी की कमी के चलते गेहूं की खेती को पूरी तरीके से बंद कर दिया गया ।

सऊदी अरब एक ऐसा देश है जिसे खाने पीने से जुड़ी हर चीजों को विदेश से मंगाना पड़ता है । सऊदी अरब एक ऐसा देश है जहां पर भूमिगत जल बहुत थोड़ी सी मात्रा में और बेहद गहराई में है और आने वाले साल में यह पूरी तरीके से खत्म हो सकता है ।

एक रिपोर्ट के अनुसार यहां पर पहले पानी के बहुत सारे कुए थे और उनका इस्तेमाल हजारों सालों से होता चला आ रहा था लेकिन जैसे-जैसे यहां की आबादी में बढ़ोतरी होती गई भूमिगत जल का दोहन इतना ज्यादा किया गया कि सऊदी अरब की भूमि से पानी पूरी तरीके से खत्म हो गया और अब बहुत थोड़ी सी मात्रा में बचा है ।

यह भी पढ़ें : महिलाओं के लिए बदल रहा सऊदी अरब, महिलाओ को मिले कई अधिकार

अधिक पानी का दोहन करने की वजह से वहां के कुओ की गहराई साल दर साल बढ़ती गई और कुए सूखते चले गए । मालूम हो कि सऊदी अरब में बारिश भी नहीं होती है । यहां पर साल में एक या दो दिन ही बारिश होती है और बारिश के दौरान भयंकर तूफान आते हैं । तूफान की वजह से बारिश के पानी को संरक्षित भी नहीं किया जा सकता और भूमिगत जल के दोहन की भरपाई असंभव हो जाती है ।

अब सवाल यह आता है कि यहां के लोग पानी पीते कैसे हैं ? दरअसल सऊदी अरब में समुद्र के पानी को ही पीने लायक बना दिया जाता है । जैसे कि हम सब जानते हैं समुद्र के पानी में नमक काफी ज्यादा पाया जाता है । इसलिए डिसलिनेशन के जरिए समुद्र के पानी से नमक को अलग करके उस पानी को पीने लायक बनाकर सऊदी अरब के लोग उसी पानी को पीते हैं ।

मालूम हो कि सऊदी अरब में तेल बेशुमार मात्रा में होता है और उसकी कमाई का एक बड़ा हिस्सा है । इसलिए सऊदी अरब के लोग तेल से होने वाली कमाई का एक बड़ा हिस्सा समुद्र के पानी को पीने लायक बनाने में खर्च कर देते हैं । मालूम हो कि यहां पर पानी की मांग साल दर साल बढ़ती ही जा रही है और 2011 में सऊदी अरब के पानी और बिजली के मंत्री ने कहा था कि सऊदी अरब में पानी की मांग हर साल 7 फ़ीसदी की दर से बढ़ रही है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *